नयी दिल्ली, तीन फरवरी (भाषा) पूर्व केंद्रीय मंत्री वी किशोर चंद्र देव ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उनका आरोप है कि कांग्रेस आंध्र प्रदेश में ‘‘मूर्छित’’ अवस्था में है और संगठन में नयी जान फूंकने के लिए पार्टी ने पिछले चार साल में कोई कदम नहीं उठाया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लिखे दो वाक्य के पत्र में देव ने कहा कि वह पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रहे हैं। देव पिछले करीब 45 साल से कांग्रेस के सदस्य थे। हाल में उन्हें पार्टी की नवगठित आदिवासी शाखा ‘अखिल भारतीय आदिवासी कांग्रेस’ का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था। साल 2011 में वह मनमोहन सिंह सरकार में केंद्रीय जनजातीय मामलों के मंत्री रह चुके हैं। वह आंध्र प्रदेश में कांग्रेस के प्रमुख नेता रहे हैं। देव ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘आंध्र प्रदेश में पार्टी मूर्छित अवस्था में है। राज्य में पार्टी में जान फूंकने के लिए पार्टी नेतृत्व ने पिछले चार साल में कोई कदम नहीं उठाए। पार्टी नेतृत्व ने तो मेरी ओर से जाहिर की गई चिंताएं और मेरे सुझाव भी नहीं पढ़े, ऐसे में उन पर अमल की बात क्या करूं।’’ पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उस पार्टी को छोड़ने का फैसला करना काफी तकलीफदेह है जिसकी सेवा मैंने 45 साल तक की है। उन्होंने कहा कि वह आने वाले दिनों में अपने भविष्य की रणनीति तय करेंगे। बहरहाल, उन्होंने राजनीति से संन्यास लेने से इनकार किया है।

इंडिया टुडे वूमन समिट एंड अवार्ड: जिम्मेदारी

एकहास्यकलाकार,एकट्रांसजेंडरजिसेअपनीसटीकराजनैतिकटिप्पणियोंपरमिलनेवालेउलाहनोंकीकोईपरवाहनहींऔरएकमंत्री,जोकड़वीबातेंभीइतनीकुश

Twitter War: डॉ हर्षवर्धन ने पूछा- दिल्ली के

नईदिल्ली:दिल्लीकेमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालऔरकेंद्रीयमंत्रीडॉहर्षवर्धनकेबीचट्विटरवॉरछिड़गयाहै.दोनोंनेताओंनेएकदूसरेपरजमकरआ