उक्त बाजार निवासी राममूरत अग्रहरि क्षेत्र के आमा चौराहे पर चाय की दुकान चलाते हैं। दस दिन पूर्व उनके बड़े बेटे 32 वर्षीय शिव दयाल अग्रहरि लकड़ी चीरते समय घायल हो गए। लकड़ी का टुकड़ा उसकी दाहिनी आंख में घुस गया था। गंभीर रूप से घायल शिव दयाल का इलाज पहले बस्ती उसके बाद गोरखपुर में चल रहा था। इसके बाद 18 अप्रैल को शिवदयाल की पत्नी मोनी से एक बेटी पैदा हुई। बहुत प्रयास के बाद भी नवजात को बचाया नहीं जा सका। पहले शिव दयाल की आंख का इलाज उसके बाद नवजात बेटी की मौत के गम से परिवार उबरा भी नहीं था कि वज्रपात हो गया। नवजात की मौत के आठवें दिन रविवार की सुबह अचानक शिव दयाल की तबियत खराब हुई। परिजन अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। एक वर्ष पूर्व सिद्धार्थनगर जिले में शिव दयाल की शादी हुई थी। मौत की खबर मिलते ही क्षेत्र के लोग व रिश्तेदार घर पहुंचे। शिव दयाल दो बेटों में बड़ा था। वह कुछ दिनों तक कमाने के लिए बाहर भी गया था। इस समय घर पर रहकर ही दुकान में सहयोग कर रहा था। पत्नी मोनी बदहवास है। बेटी की मौत से मोनी की पहले गोद सुनी हुई उसके बाद पति शिव दयाल की मौत से उसका सुहाग उजड़ गया। शिव दयाल का अंतिम संस्कार कुआनो नदी के वाराह क्षेत्र घाट पर हुआ।

इंडिया टुडे वूमन समिट एंड अवार्ड: जिम्मेदारी

एकहास्यकलाकार,एकट्रांसजेंडरजिसेअपनीसटीकराजनैतिकटिप्पणियोंपरमिलनेवालेउलाहनोंकीकोईपरवाहनहींऔरएकमंत्री,जोकड़वीबातेंभीइतनीकुश

Twitter War: डॉ हर्षवर्धन ने पूछा- दिल्ली के

नईदिल्ली:दिल्लीकेमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालऔरकेंद्रीयमंत्रीडॉहर्षवर्धनकेबीचट्विटरवॉरछिड़गयाहै.दोनोंनेताओंनेएकदूसरेपरजमकरआ