भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी ने बताया कि कोरोना लॉकडाउन में एनएसयूआइ ने जरूरतमंदों की सहायता की। गरीबों को खाद्य सामाग्री बांटीद। संगठन के मुख्य पदाधिकारी बैठकें करते हैं लेकिन फिलहाल सभी कार्यकर्त्‍ता एक स्थान पर एकत्रित नहीं हो सकते हैं। उधर, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश अध्यक्ष डॉ.कौशल कुमार ने कहा कि अभाविप का कोरोनाकाल में तीन सम्मेलन हो चुके हैं। जिसमें शारीरिक दूरी नियम का पूरा पालन किया गया। सम्मेलन में मास्क व सैनिटाइजर का प्रयोग किया गया। नये सदस्यों के लिए ऑनलाइन ड्राइव चलाई गई। करीब 20 हजार नये सदस्य जुड़े हैं। कोरोना संक्रमण के कारण अभी तक कोई बड़ा सम्मेलन आयोजित नहीं किया गया।

इंडिया टुडे वूमन समिट एंड अवार्ड: जिम्मेदारी

एकहास्यकलाकार,एकट्रांसजेंडरजिसेअपनीसटीकराजनैतिकटिप्पणियोंपरमिलनेवालेउलाहनोंकीकोईपरवाहनहींऔरएकमंत्री,जोकड़वीबातेंभीइतनीकुश

Twitter War: डॉ हर्षवर्धन ने पूछा- दिल्ली के

नईदिल्ली:दिल्लीकेमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालऔरकेंद्रीयमंत्रीडॉहर्षवर्धनकेबीचट्विटरवॉरछिड़गयाहै.दोनोंनेताओंनेएकदूसरेपरजमकरआ