कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के प्रमुख सुरक्षा कवच मास्क पहनना, शारीरिक दूरी का ख्याल रखना, अनजान चीजों को न छूना और साफ़ सफाई हैं। लोग इन नियमों का पालन भी कर रहे हैं। हालांकि, जब बात मास्क की आती है, तो लोग एक मास्क को लंबे समय तक इस्तेमाल करते हैं। इससे न केवल मास्क गंदे हो जाते हैं बल्कि मास्क पर धूल, कीटाणु और जीवाणु भी जमा हो जाते हैं और जब हम सांस लेते हैं, तो सांसों के माध्यम से ये शरीर में प्रवेश कर जाते हैं, जिनसे एलर्जी का खतरा बढ़ जाता है। इस वजह से लंबे समय तक मास्क पहनने से गले में खराश की शिकायत होती है। साथ ही मास्क पहने लोग एक-दूसरे से तेज आवाज में बातचीत करते हैं, ताकि दोनों को बातें सुनाई दें। इससे गले पर अतिरिक्त दवाब पड़ता है। इससे भी गले में खराश हो सकती है।

विदेश की नौकरी छोड़ युवाओं को बना रहे डिजिटल स

गोपालगंज।येकहानीएकहीगांवकेदोदोस्तोंहै।एकदोस्तएमबीएकरनेकेबादअमेरिकामेंनामीगिरामीकंपनीमेंअच्छेपदपरकामकरतेथे।वहींदूसरादोस्त

टॉपर्स को कंप्यूटर व साइकिल देकर किया सम्मानि

वजीरगंज:एसकेएसदूनव‌र्ल्डस्कूलमेंशनिवारकोतीसरास्थापनादिवसधूमधामसेमनायागया।देरराततकचलेइसआयोजनमेंबच्चोंनेसांस्कृतिकप्रस्तुत

फैशन डिजाइनिग में नसरा व कंप्यूटर में दिव्यां

बहराइच:शहरकेमहिलामहाविद्यालयमेंनेशनलस्किलक्वालीफिकेशनऑफफ्रेमवर्ककीओरसेचलाएजारहेफैशनडिजाइनिगवकंप्यूटरएजूकेशनविभागकीओरसेप्

Twitter War: डॉ हर्षवर्धन ने पूछा- दिल्ली के

नईदिल्ली:दिल्लीकेमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालऔरकेंद्रीयमंत्रीडॉहर्षवर्धनकेबीचट्विटरवॉरछिड़गयाहै.दोनोंनेताओंनेएकदूसरेपरजमकरआ