सेवा समाप्ति के विरोध में यह कर्मचारी पिछले करीब एक हफ्ते से धरने पर हैं। शनिवार को उनकी स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात भी हुई। मंत्री ने अगली कैबिनेट में मामला रखकर सकारात्मक कार्रवाई का का आश्वासन उन्हें दिया है। सोमवार को प्रदेशभर से हटाए गए आउटसोर्स कर्मचारियों ने आंदोलन में दून पहुंचने की बात कही। जिस पर उन्हें बताया गया कि स्वास्थ्य मंत्री ने सकारात्मक कार्रवाई का आश्वासन दिया है, इसलिए अभी कुछ समय देना चाहिए। इसके बाद यह तय हुआ कि हर जिले से दो-दो लोग प्रतिनिधि के रूप में दून पहुंच सकते हैं। उधर, दून अस्पताल के बाहर रविवार को भी हटाए गए आउटसोर्स कर्मचारियों का धरना जारी रहा।

एमएलसी ने लिक मार्ग का किया लोकार्पण

रायबरेली:एमएलसीनेरविवारकोगुलरिहागांवमेंलिकरोडकालोकार्पणकिया।यहमार्गलालाकेदरवाजेसेवीरेंद्रसिंहकेदरवाजेतकऔरनहरसेप्राइमरीवि

UP Politics: अखिलेश यादव के बयान पर मायावती क

अबएकबारफिरबसपासुप्रीमोनेसपाऔरअखिलेशयादवपरहमलाबोलतेहुएराष्ट्रपतिउम्मीदवारबननेकेअटकलोंपरप्रतिक्रियादीहै.पूर्वसीएमनेशुक्रवा