आखिर भेंगा धार पर कब बनेगी पुल, उठने लगे सवाल

सुपौल।चिलौनीउत्तरपंचायतस्थिततीनटोलियाएवंभालूकूपगांवकेबीचजाने-आनेकोलेकरभेंगाधारपरपुलनिर्माणक्षेत्रवासियोंकेलिएकिसीदिवास्वप्नसेकमनहींहै।गतवर्ष2019जनवरीकोपुलनिर्माणकोलेकरग्रामीणकार्यविभागमधेपुरासेभेंगाधारपरपुलनिर्माणकाजायजालेनेपहुंचेअधीक्षणअभियंताकेखबरकीसूचनासेपंचायतवासीगदगदहोगएथे।जायजालेनेपहुंचेएसईसतीशकुमारनेआश्वासनभीदियाथाकिपुलकानिर्माणइसीवर्षहोजाएगा।उसवक्तलोगोंमेंएकआसजगीथीकिअबजल्दहीपुलनिर्माणकाकार्यप्रारंभकरदियाजाएगा।देखते-देखतेएकवर्षबीतगए।लेकिनउसकेबादसेआजतकपुलनिर्माणसेसंबंधितजमीनीस्तरपरकुछभीकार्यहोतानहींदिखा।सरकारकेइसरवैयेसेक्षेत्रकेलोगोंमेंएकबारफिरनिराशापनपनेलगीहै।जायजालेनेपहुंचेपदाधिकारीकोदेखक्षेत्रीयलोगउक्तगांवनिवासीपूर्वउपप्रमुखअमोलभारतीकेसार्थकपहलकीसराहनाकरनेसेनहींथकरहेथे।उपप्रमुखकेद्वारापुलनिर्माणकीमांगकोलेदिएगएआवेदनकोसम्बन्धितविभागकेपासमंत्रीविजेंद्रप्रसादयादवकेमाध्यमसेभिजवायागयाथा।जिसपरविभागद्वारात्वरितकार्रवाईकीगईथी।उसवक्तपंचायतवासियोंकोमहसूसहोनेलगाथाकिउनकेदिनभीजल्दहीबहुरेंगे।उक्तगांवकेसमीपभेंगाधारकेऊपरपुलनहींरहनेकेकारणदोनोंकिनारोंकेलोगोंसहितक्षेत्रकेलोगोंकोभीघोरकठिनाइयोंसेजूझनापड़रहाहै।उक्तपंचायतहोकरगुजरनेवालीभेंगाधारकेपूर्वीहिस्सेमेंतीनटोलियागांवहैतोपश्चिमीहिस्सेपरहजारोंकीआबादीवालागांवभालूकूप।उक्तपंचायतकेहीदोनोंगांवोंकेलोगोंकोआवागमनकेलिएटूटीचचरीहीसहाराबनाहुआहै।बारहमासीनदीहोनेकीवजहसेसालोंभरपानीभरारहताहै।नदीकीधारातेजहोतेहीनदीकेउपरलगायेगयेचचरीकेक्षतिग्रस्तहोनेकीसंभावनाबनीरहतीहै।विभागीयजानकारीकेबावजूदभेंगाधारकेउपरपुलनिर्माणकार्यनहींकरायेजानेकेकारणलोगोंकोअपनीजानजोखिममेंडालकरचचरीकेसहारेआवागमनकरनेकेलियेविवशहोनापड़ताहै।ग्रामीणबतातेहैंकितीनटोलियास्थितपुरानीदुर्गामंदिरकेबगलसेनिकलनेवालीकच्चीसड़कभालूकूपगांवहोतेहुएरामविशनपुरहोकरसिमराहीतकजातीहै।इससड़कमार्गसेहजारोंकीआबादीकाआवागमनतीनटोलिया,सुखानगरहोतेहुएप्रखंडमुख्यालयतकहोताहै।लेकिनइससड़कमार्गकीसबसेबड़ीसमस्याहैतीनटोलियास्थितबड़ीदुर्गामंदिरकेपश्चिमओरभालूकूपटोलेकेबीचसेहोकरबहनेवालीभेंगाधारकेउपरपुलकानिर्माणनहींहोना।तीनटोलियागांवकेलोगोंकोतोकमलेकिनभालूकूूपकेलोगोंकोहरमामलेमेकठिनाइयोंसेसमय-समयपररूबरूहोनाहीपड़ताहै।ऐसेमेंचिलौनीउत्तरपंचायतकाभालूकूपगांवकेलोगोंकोअपनेहीपंचायतभवनकीआवाजाहीकरनेमेंअपनीजानजोखिममेंडालकरपारगमनकरनापड़ताहै।इतनाहीनहींलोगोंकोदैनिकसामग्रीसहितछोटी-मोटीआवश्यकताओंकीपूर्तिकेलिएकईकिलोमीटरकाचक्करलगातेहुएएनएच57केरास्तेअपनेपंचायतवप्रखंडमुख्यालयतकजानाहोताहै।

Previous post Bihar Crime: गोपालगंज में जदयू
Next post Lockdown: गर्भवती महिला 196 कि