अदालत का पुलिस को निर्देश : एक महिला से जुड़ी अश्लील सामग्री हटाने के लिये ब्योरा एनसीआरबी को सौंपे

नयीदिल्ली,22अक्टूबर(भाषा)दिल्लीउच्चन्यायालयनेपुलिसएजेंसियोंकोनिर्देशदियाहैकि24वर्षीयएकमहिलासेजुड़ीहुईअश्लीलसामग्रीकोराष्ट्रीयअपराधरिकॉर्डब्यूरो(एनसीआरबी)कोसौंपदेताकिइंटरनेटसेआपत्तिजनकसामग्रीकोहटानेकेलिएअधिसूचितकियाजासके।जिससमयतस्वीरेंलीगईथींउससमयमहिलानाबालिगथी।उच्चन्यायालयनेफेसबुकऔरगूगलकोआपत्तिजनकसामग्रीऔरयूआरएलकोअपनेप्लेटफॉर्मसेहटानेकानिर्देशदिया।इसनेपुलिसअधिकारियोंकोभीनिर्देशदियाकिएनसीआरबीएवंअन्यसंबंधितएजेंसियोंकेपासमौजूदप्रोटोकॉलएवंसंसाधनोंकाइस्तेमालकरेंताकिउनव्यक्तियोंकीपहचानकीजासकेजोभारतमेंइंटरनेटपरआपत्तिजनकसामग्रीफिरसेडालतेहैंऔरउनकेखिलाफकार्रवाईकीजाए।न्यायमूर्तिविभुबाखरूनेकहा,‘‘इनपरिस्थितियोंमेंयहअदालतसंबंधितपुलिसएजेंसियोंकोनिर्देशदेतीहैकियाचिकाकर्तासेजुड़ीआपत्तिजनकसामग्रियोंकोएनसीआरबीकोसौंपे।’’उन्होंनेकहा,‘‘एनसीआरबीभीएनसीएमईसीकेसाथसमझौतेकेतहतप्रोटोकॉलकाइस्तेमालकरसकताहैयाआपत्तिजनकसामग्रीकोअधिसूचितकरसकताहैताकिकार्रवाईहोसकेएवंअन्यप्लेटफॉर्मसेउन्हेंहटायाजासके।’’नेशनलसेंटरफॉरमिसिंगएंडएक्सप्लॉयटेडचिल्ड्रेन(एनसीएमईसी)एकगैरसरकारीसंगठनहैजोलापताबच्चोंकोढूंढनेमेंमददकरताहै,बच्चोंकायौनउत्पीड़नकमकरनेमेंसहयोगकरताहैऔरबच्चोंकाउत्पीड़नरोकताहै।अदालतकाफैसलाएकमहिलाकीयाचिकापरआयाहैजो2012में16वर्षकीथी।तभीउसकीदोस्तीअपनीकक्षाकेएकलड़केसेहुईऔरदोनोंकेबीचसंबंधबने।याचिकामेंमहिलानेबतायाकिलड़काबादमेंउसेब्लैकमेलकरनेलगाऔरउसेअंतरंगफोटोग्राफभेजनेकेलिएबाध्यकरनेलगा।बादमेंउसनेउससेसंबंधसमाप्तकरलिएऔरउच्चशिक्षाकेलिएविदेशचलीगई।बहरहाल,लड़केनेउसेपरेशानकरनाजारीरखाऔरविदेशभीपहुंचगयाजहांउसनेउसकागलाघोंटनेकीकोशिशकी,जिसकेबादवहांएकअदालतनेउससेसंपर्कनहींरखनेकाआदेशपारितकिया।महिलानेदावाकियाकि2019मेंउसेपताचलाकिउसव्यक्तिनेट्विटर,इंस्टाग्रामऔरयू-ट्यूबजैसेविभिन्नप्लेटफॉर्मपरउसकीअंतरंगतस्वीरेंडालरखीहैंऔरयेफोटोग्राफवहीहैं,जिन्हेंनाबालिगरहतेउसनेलड़केकोभेजाथा।महिलानेदिल्लीपुलिसकीसाइबरअपराधशाखाकेविशेषप्रकोष्ठमेंप्राथमिकीदर्जकराईऔरआपत्तिजनकफोटोग्राफकोहटानेकेलिएसोशलमीडियाप्लेटफॉर्मसेभीसंपर्कसाधा।बहरहाल,जबवेबपेज,यूआरएलनहींहटाएगएतोउसनेराहतकेलिएअदालतकादरवाजाखटखटाया।

Previous post सामाजिक जारूकता की दिशा में सो
Next post बलिया में छठ पूजा करने के बाद