ऐतिहासिक गांव गोड़सरा में नहीं चला विकास का पहिया

जागरणसंवाददाता,भदौरा(गाजीपुर):ऐतिहासिकविरासतसमेटेहुएविकासखंडभदौराकेमुस्लिमबाहुल्यगांवगोड़सरामेंपांचवर्षोंमेंविकासकापहियाउसतरहनहींचलसकाजैसेचलनाचाहिएथा।ग्रामीणविकासकार्योंसेसंतुष्टनहींहैं।सरकारकीतरफसेगांवकेलिएजारीबजटसेहीकामकराएगए।अलगसेप्रयासनहोनेसेअतिरिक्तविकासनहींहोसका।इससेकईसपनेअधूरेरहगए।इसगांवकीपहचानहाकीखिलाड़ीशहीदबदरुद्दीनखांवसमाजसुधारकखानबहादुरमंसूरअलीऔर1971मेंभारत-पाकयुद्धमेंशहीदहुएवीरगफ्फारशाहऔरतत्कालीनराजाकुतलूखानकेरूपमेंहै।

पिछलेपांचवर्षोंमेंनाली,खड़ंजातोबनाहै,कितुअन्यकार्योंमेंयहगांवआजभीपीछेहै।जितनाविकासहोनाचाहिए,उतनानहींहोपायाहै।गांवमेंमिनीसचिवालयजर्जरहालतमेंहै।आंगनबाड़ीकेंद्रकानिर्माणहुआहै,लेकिनग्रामीणोंकोइसकालाभनहींमिलता।युवाओंकेलिएखेलमैदानभीहै,लेकिनवहांतकपहुंचनेकेलिएमार्गनहींबनाहै।जिसकारणयुवाओंकोबेहददिक्कतहोतीहै।यहांकीसबसेबड़ीसमस्याबालिकाओंकीउच्चशिक्षाकीहै।महिलाडिग्रीकालेजनहोनेसेबालिकाओंकोदूरजानापड़ताहै।एककन्यामहाविद्यालयकीआवश्यकतामहसूसकीजारहीहै।यदिहाकीखिलाड़ीशहीदबदरुद्दीनखांऔरदेशकेलिएबलिदानहुएवीरगफ्फारशाहकास्मारकबनादियाजाएतोगांवकीपहचानमेंचारचांदलगजाएगा।

कुलआबादी-10हजार

वृद्धापेंशन-350

दिव्यांगपेंशन-10

पानीनिकासीकीसमस्या

गांवकेपश्चिममोहल्लेमेंरास्तावपानीनिकासीकीउचितव्यवस्थानहींहै।इससेपरेशानीकासामनाकरनापड़ताहै।दोवर्षपहलेबनीजलनिगमकीटंकीमेंतकनीकीखराबीकेकारणआएदिनपेयजलआपूर्तिबाधितरहतीहै।

पाइपलाइनक्षतिग्रस्त

जलनिगमकीओरसेगांवमेंबिछाईगईपाइपलाइनक्षतिग्रस्तहै।इससेप्रदूषितजलआताहै,जोशीघ्रदुरुस्तकियाजानाचाहिए।तालाबपरकईलोगोंनेकब्जाकरलियाहै।उसेकब्जामुक्तकरनेकीदिशामेंप्रयासबेहदजरूरीहै।

सफाईव्यवस्थाचौपट

गांवमेंसफाईव्यवस्थाचौपटहै।गांवस्थितकैथीआबादीमेंअबतकरास्तानहींबनसका।शौचालयनिर्माणमेंकरोड़ोंरुपयेखर्चकरनेकेबादभीगांवखुलेमेंशौचमुक्तनहींहोसका।

-मिसबाहुद्दीनखांउर्फमोनू।

मानककेअनुरूपनहींबनेशौचालय

गांवमेंसबसेबड़ीसमस्याजलनिकासीकीहै।अधिकांशशौचालयोंकानिर्माणमानककेअनुरूपनहींहुआहै।तालाबकोकब्जामुक्तकरनेकीदिशामेंभीकोईप्रयासनहींकियागया।

गांवमेंगंदगीकीभरमार

गांवमेंसफाईकर्मचारीमनमानीकरतेहैं।चारोंओरगंदगीफैलीहुईहै।लाइटकीव्यवस्थानहींहोनेसेरातमेंगांवअंधेरेमेंडूबजाताहै।जच्चा-बच्चाकेंद्रजर्जरहालतमेंहै।छात्र-छात्राओंकोउच्चशिक्षाकेलिएगांवसेबाहरदूरजानापड़ताहै।

शासनसेगांवकेविकासकार्योंकेलिएजितनाबजटमिलाथा,उतनेकाकार्यकरायागयाहै।बजटकेअभावमेंकुछकार्यनहींहोसके।गांवकासमुचितविकासहुआहै।

-इमरानखांउर्फभोलू,निवर्तमानप्रधानपतिगोड़सरा

Previous post नन्हें-मुन्ने पहुंचे स्कूल, जम
Next post बिना परमिट ले जा रहे थे बिरोजे