अजन्मे कौ जन्म, ब्रज भयौ बैकुंठ

विनीतमिश्र,मथुरा:भाद्रपदमासकेकृष्णपक्षकीअष्टमीयानिबुधवारकीरातभलेहीअंधेरीथी,मगरश्रीकृष्णजन्मस्थानकीशोभाअलौकिकथी।त्रिलोकस्वामीकेजन्मोत्सवपरऐसीअनुपमशोभाअवर्णनीयथी।मानोबैकुंठउतरआयाहो।अजन्मेकाअर्धरात्रिकोप्राकट्यहुआ,धरासेआकाशतक'जयकन्हैयालालकी'कीगूंजहोनेलगी।ब्रजकाकण-कणधन्यहोगया।इसबारकाजन्मोत्सवकुछमायनोंमेंअलगरहा।गंगा-यमुनाकेसाथहीपहलीबारसरयूकेपवित्रजलसेप्रभुकाअभिषेककियागया।कोरोनासंक्रमणकोदेखतेहुएइसबारजन्मस्थानपरश्रद्धालुओंकाविहंगमसमागमनहींथा।श्रद्धालुओंनेप्रभुकेऑनलाइनदर्शनकरखुदकोधन्यकिया।समूचेब्रजमेंघर-घरआनंदछागया।

बुधवारकोश्रीकृष्णकाये5247वांजन्मोत्सवथा।सुबहसेहीब्रजमेंउल्लासऔरउमंगछाईथी।श्रीकृष्णजन्मस्थानमेंतोहर्षअपरंपारथा।सुबहसेहीजन्मोत्सवकेअनुष्ठानशुरूहोगए।मंगलाआरतीकेबादपुष्पाजंलिअर्पितकीगई।शामहोतेहीउत्सवअपनेउल्लासकीओरबढ़नेलगा।रातगहरातेहीमंदिरपरिसरमेंपुष्पवर्षाकीगई।सुंगधितद्रव्यकाछिड़कावकरायागया।रात11बजेश्रीगणेशजी,नवग्रहपूजनऔरपुष्पसहस्त्रार्चनकेसाथहीलालाकेजन्मकीतैयारियांतेजहोगईं।श्रीरामजन्मभूमितीर्थक्षेत्रट्रस्टऔरश्रीकृष्णजन्मभूमिन्यासकेअध्यक्षमहंतनृत्यगोपालदासभीभागवतभवनपहुंचगए।आधीरातठीक12बजेकान्हाकेचलितविग्रहकोमोरछलआसनपरभागवतभवनमेंलायागया।रजतकमलपुष्पपरविराजमानठाकुरजीकास्वर्णमंडितरजतसेनिर्मितगायनेदुग्धाभिषेककिया।पहलीबारठाकुरजीकाअभिषेकअयोध्यासेलाएगएसरयूजलसेहुआ।इसदौरानजयकन्हैयालालकीजय,नंदकेआनंदभयेजयकन्हैयालालकी,केजयकारेगूंजतेरहे।ठाकुरजीकीश्रृंगारआरतीऔरफिररातएकबजेशयनआरतीहुई।देहरीनमनकरलौटगए

कान्हाकीइसलीलाकेजीवंतहोतेसमयमंदिरप्रबंधनसेजुड़ेपदाधिकारीहीमौजूदरहे।सुबहसेहीतमामश्रद्धालुआए,मगरकोरोनासंक्रमणकोदेखतेहुएव्यवस्थाकेतहतउन्हेंप्रवेशनहींमिला।वेजन्मस्थानकीदेहरीकोहीनमनकरलौटगए।श्रद्धालुओंनेकिएऑनलाइनदर्शन

हमेशाकीतरहश्रीकृष्णजन्मोत्सवकासीधाप्रसारणदूरदर्शनपरहोतारहा।अपनेआराध्यकीलीलादेखनेकोश्रद्धालुसुबहहीटीवीसेचिपकेरहे।अर्धरात्रिठाकुरकेजन्मोत्सवकेऑनलाइनदर्शनकिए।बिहारीजीकीमंगलाआरती

वृंदावनस्थितठाकुरबांकेबिहारीमंदिरमेंसालमेंकेवलएकबारहीहोनेवालीमंगलाआरतीतोहुई,मगरयहांभीश्रद्धालुओंकेलिएदर्शनप्रतिबंधितथे।

Previous post फंदे से लटकता महिला का शव बराम
Next post दोस्तों के साथ भाखड़ा नहर में न