अंशु नहीं उसके बड़े भाई के मर्डर का रचा गया था प्लान, संपत्ति के लिए खेला गया खूनी खेल

संवादसहयोगी,नवादा।अंशुकाअपहरणकरनेकेबादउसकीनिर्ममहत्याकरदीगई।गलाघोंटनेकेबादउसकीएकआंखनिकाललीगई।घटनाकोउसकेबहनोईइंद्रजीतकुमारनेअपनेपितासंजययादववचाचाविकासकुमारकेसाथमिलकरअंजामदिया।आरोपितगयाजिलेकेनीमचकबथानीथानाक्षेत्रकेनासिरबिगहागांवकेरहनेवालेहैं।मोबाइलसर्विलांसकेआधारपरतीनोंकोगिरफ्तारकियागया।कड़ीपूछताछमेंतीनोंटूटगएऔरअपनीसंलिप्तताकबूलकरली।

उनकीनिशानदेहीपरनीमचकबथानीथानाक्षेत्रकेतलाशिनपहाड़ीकेखोहसेशवकोबरामदकियागया।एसडीपीओउपेंद्रप्रसादनेबतायाकिइंद्रजीतआठजनवरीकोबाइकसेनवादापहुंचाऔरअपनेसालाअंशुकोमिठाईखिलानेकेबहानेसाथलेतेगया।अपनेगांवलेजानेकेबादघुमानेकेबहानेतेलाशिनपहाड़परलेगयाऔरवहींपरगलाघोंटदिया।हालांकिउन्होंनेआंखनिकालनेकीबातसेइंकारकियाहै।

ससुरालकीसंपत्तिपरथीआरोपितबहनोईकीनजर

एसडपीओनेबतायाकिघटनासेपूर्वइंद्रजीतनेअपनेपितावचाचाकेसाथयहचर्चाकियाकिउसकेससुरसुनीलयादवकेपासकाफीजमीनहै।अगरउनकेदोनोंकोबेटोंकोमारदियाजाएतोसंपत्तिपरउसकाहकहोगा।इसकेबादवह8जनवरीकोबाइकसेनवादाआया।बहनोईहोनेकेकारणअंशुउसकेसाथचलागया।

अंशुकेबड़ेभाईकीभीहत्याकाथाप्लान

एसडीपीओकाकहनाहैकिआरोपितमृतबालकअंशुकेबड़ेभाई13वर्षीयबसंतकुमारकीहत्याकरनेकामनबनायाथा।ताकिसंपत्तिइंद्रजीतकीहोसके।वारदातकोअंजामदेनेमेंउसकेपितावचाचानेपूरासहयोगकिया।

क्याहैघटनाक्रम

आठजनवरीकोअंशुअपनेघरकेपाससाइकिलचलारहाथा।उसकेबादवहगायबहोगया।स्वजनोंनेतलाशशुरूकीतोघरसेथोड़ीदूरीपरसाइकिलमिली।बालककेदादादेवशरणयादवनेजमीनकीखरीद-बिक्रीकेविवादमेंपोतेकेअपहरणकीआशंकाजतातेहुएतीनलोगोंकेखिलाफप्राथमिकीदर्जकराई,जिसमेंवीआइपीकालोनीकेबबलूसिंह,मनोजसिंहवअपनेपड़ोसीकमलनयनकोआरोपितकिया।पुलिसपरलापरवाहीबरतनेकाआरोपलगातेहुएस्वजनोंनेनौजनवरीकोआइटीआइकेसमीपनवादा-बिहारपथकोजामकरदियाथा।जिसकेबादपुलिसहरकतमेंआईऔरतीनोंनामजदोंकोथानालाकरपूछताछकी।उनकीसंलिप्ततासामनेनहींआनेपरपीआरबांडपरउन्हेंमुक्तकरदियागयाथा।

Previous post सड़क हादसों में दो की मौत, पांच
Next post वंदना सकलडीहा की कोतवाल