बैजाबिधा प्रतियोगिता में पानसर मुर्मू बने विजेता

संवादसूत्र,बिदापाथर(जामताड़ा):बिदापाथरथानाक्षेत्रकेखैरागांवमेंसोहरायपर्वकेअंतिमदिनयुवाओंकेबीचबैजाबिधाप्रतियोगिताकाआयोजनकिया।बैजाबिधा,आदिवासीसमाजकेलोगोंकेदेखरेखमेंखुलेमैदानमेंएकखूंटीगाड़ीजातीहैवकरीबदोसौमीटरकेदूरीसेप्रतिभागियोंकीओरसेतीर-धनुषसेनिशानालगायाजाताहै।प्रतियोगितामेंखूंटीकोनिशानासाधकरपानसरमुर्मूविजेताबने।विजेताकोकंधेपरबैठाकरडोल,नगाड़ेऔरमांदरकीथापपरनृत्यकरतेहुएलोगगांवकेमांझीथानतकलेजानेकीपरंपरारहीहै।

प्रतियोगिताकोलेकरगांवमेंउत्सवीमाहौलरहा।मौकेपरखैरापंचायतकेमुखियाआलोकीसोरेननेकहाकिसंतालसमाजकासोहरायपर्वबुरीप्रवृत्तिकोत्यागनेकेलिएजानाजाताहै।संतालसमाजप्रकृतिककेपूजकहोतेहैं।मौकेपरसमाजसेवीराजकुमारयादवनेकहाकिबैजाबिधाकाआयोजनखैरागांवमेलगभगपचाससालसेहोताआरहाहै।बैजाबिधाकेकार्यक्रममेंगांवकेसभीसमुदायकेलोगबड़ेहीउत्साहकेसाथभागलेतेहैं।मालूमहोकिखैरागांवमेंबैजाबिधाकाआयोजनदेखनेकेलिएआसपासगांवकेलोगआतेहैं।

मौकेपरसुभाषयादव,अमरमुर्मू,बसंतदेवहांसदा,बाबुजनमुर्मू,कालेमहांसदा,उत्तमयादव,भोलादे,इस्माइलअंसारी,मुस्तकिमअंसारीआदिउपस्थितथे।

Previous post जहां हम कहेंगे, वहां देना होगा
Next post फौजी विक्रांत तिवारी के अंतिम