बिहार पंचायत चुनाव 2021: वोट देने के लिए टाला पिता का अंतिम संस्‍कार, पहले लगाई अंगुली पर स्‍याही, फ‍िर दी मुखाग्नि

खगडिय़ा[चंदनचौहान]।बिहारमेंलगातारअभीपंचायतचुनावचलरहाहै।बारी-बारीसेहरेकजिलोंकेविभिन्‍नप्रखंडोंमेंचुनावहोरहेहैं।मतदानऔरमतगणनाकीप्रक्रियाचलरहीहै।इसबीचमतदानकीएकरोचकतस्‍वीरखगडि़यासेसामनेआरहीहै।कहाजारहाहैकियहांएकयुवकनेपहलेमतदानकियाऔरबादअपनेपतिकाअंतिमसंस्‍कारकिया।उनकेपिताकानिधनहोगयाथा। इसघटनाकीचर्चाहरओरहोरहीहै।

जानकारीकेअनुसारखगडि़याकेसदरप्रखंडकेलाभगांवपंचायतकीनोनियाटोलानिवासी91वर्षीयकुंवरमहतोकानिधनरविवारकीदेररातहोगया।सोमवारकीसुबहगांवकीसरकारचुननेकेलिएमतदानहोनाथा।स्व.कुंवरमहतोकेचारबेटेउमाशंकरमहतो,रमाशंकरमहतो,शिवशंकरमहतोऔररविशंकरमहतोअसमंजसमेंथेकिएकतरफमतदानहैऔरदूसरीतरफपिताकादाहसंस्कारकरनाहै।

अगरदाहसंस्कारकरनेगंगाघाटनिकलतेहैंतोउधरसेलौटनेमेंशामहोजाएगी।जिससेवहगांवकीसरकारबनानेकेलिएअपनेमताधिकारकाप्रयोगनहींकरपाएंगेऔरपांचसालोंतकइसकीटीसबनीरहेगी।परिवारकेसभीसदस्योंनेपहलेमतदानकाफैसलालिया।पहलेमतदानकेंद्रपरजाकरअपनेअपनेमताधिकारकाप्रयोगकिया।उसकेबादपिताकेअर्थीकोकंधादिया।इसकीचहुंओरचर्चाहै।

कुंवरमहतोकेपुत्रोंनेबतायाकियहआसानकामनहींथा।लेकिनहमलोगोंनेफैसलालिया,पहलेगांवकीसरकारचुननेजाएंगे।इससेपिताजीकीआत्माकोभीशांतिमिलेगी।पिताजीखुशहालगांवदेखनाचाहतेथे।लोगोंनेकुंवरमहतोकेपुत्रोंकेइसहौसलेकोसलामकियाहै।लाभगांवपंचायतकीदिलीपकुमारसिंहनेकहाकिपांचवर्षोंमेंअपनेमताधिकारकाप्रयोगकरगांवकीसरकारचुननेकामौकामिलताहै।स्मृतिशेषकुंवरमहतोकेस्वजनोंकीहिम्मतऔरनिर्णयकास्वागतकरतेहैं।

Previous post कुदरा में बिजली के करंट से युव
Next post अलीगढ़ में शहर से ज्यादा विकसि