बिना सुविधाओं के चल रहा महिला अस्पताल

आयुषजैन,महमूदाबाद(सीतापुर):सामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रसेसंचालिततीनमंजिलामहिलाअस्पतालमेंसुविधाएंनहींहैं।वैसेइसमहिलाअस्पतालकेनएभवनकालोकार्पणवर्ष2016मेंतत्कालीनमुख्यमंत्रीअखिलेशयादवनेकियाथापर,यहांव्यवस्थाएंनहींकराईगईं।ग्राउंडफ्लोरओपीडी,फॉर्मेसीवप्रसवकक्षहैं।दूसरीवतीसरीमंजिलपरउपकरणनहोनेसेचिकित्सासेवाएंबाधितहैं।डॉक्टरोंकीतैनातीनहोनेसेयेस्वास्थ्यकेंद्रपररोगियोंकेइलाजमेंकाफीदिक्कतरहतीहै।पिछलेनौमहीनोंकेआंकड़ेबतातेहैंकिअस्पतालसेकुल294जज्जा-बच्चाकोरेफरकियागया।वैसेस्वास्थ्यसुविधाओंकेनामपरमहमूदाबादकोसिर्फआकर्षकभवनहीमिलाहै।कुलमिलाकरतीनमंजिलाइमारतप्रसूताओंकेकामनहींआरहीहै।जरूरीसुविधाएंऔरडॉक्टरोंकेनहोनेसेमहिलाअस्पतालमेंस्टॉफनर्साेंकीहीचलतीहै।चिकित्सकोंकेअभावमेंरोगीमहिलाओंकोइलाजकेलिएलखनऊयाफिरसीतापुरजानाहोताहै।आंकड़ोंकेमुताबिकएकअप्रैलसे31दिसंबर2019तककुल190महिलाओंऔर104नवजातशिशुओंकाइलाजकरनेकेबजायउन्हेंरेफरकरनापड़ाहै।

-महिलाअस्पतालमेंयेहैदिक्कत

अल्ट्रासाउंडऔरएक्स-रेकक्षहैंपर,इनमेंउपकरणनहींहैं।

-अस्पतालमेंमहिलाएवंबालरोगविशेषज्ञभीनहींहैं।

-शिशुकेयरयूनिट,ऑपरेशनथियेटर,लिफ्टिगहैलेकिनउपकरणऔरविशेषज्ञनहींहैं।एकअप्रैलसे31दिसंबरतककेआंकड़े

कराएगएप्रसव-1996

रेफरकीगईंमहिलाएं-190

रेफरहुएनवजातशिशु-104केवलगंभीरमामलोंमेंहीमरीजोंकोरेफरकियाजाताहै।अस्पतालमेंतीनमहिलावदोबालरोगविशेषज्ञोंकीआवश्यकताहै।फिरभीमरीजोंकोसुविधाकेलियेहरसंभवप्रयासकियेजातेहैं।खराबएक्स-रेमशीनकोलेकरउच्चाधिकारियोंकोपत्रलिखाहै।

-डॉ.अजयवर्मा,सीएचसी-अधीक्षक

Previous post नहीं हुई सड़क की मरम्मत तो जनप्
Next post बड़कागांव में करंट से युवक की म