बत्तख पालन कर महिलाएं स्वावलंबी बने : बीडीओ

जागरणसंवाददाता,लोहरदगा:किस्कोप्रखंडकेबगडूखननक्षेत्रमेंहिडाल्कोकेजनसेवाट्रस्टकेमाध्यमसे14महिलासमूहोंकेबीचबत्तखकेचूजेंकावितरणकियागया।मौकेपरकिस्कोकेप्रखंडविकासपदाधिकारीअनिलमिजनेकहाकिबत्तखपालनकरमहिलाएंस्वावलंबीबनें।उन्होंनेकहाकिस्वावलंबनकेक्षेत्रमेंस्वयंसहायतासमूहकीमहिलामंडलआत्मनिर्भरहोरहीहैं।बगडूखननक्षेत्रमेंहिडाल्कोकेसीएसआरकेसहयोगसे14समूहोंकोरांचीस्थितरामकृष्णमिशनसंस्थासेप्रशिक्षणदेकरबत्तखपालनकेक्षेत्रमेंआत्मनिर्भरबनायाजारहाहै।बत्तखपालनकेसाथ-साथबत्तखोंकेअंडेकीबिक्रीकरअच्छामुनाफाकमारहीहैं।हिडाल्कोजनसेवाट्रस्टद्वारा14स्वयंसहायतासमूहकेबीच630बत्तखकेचूजेवितरितकिएगए।मौकेपरकिस्कोबीडीओअनिलमिजनेकहाकिहिडाल्कोकेइसप्रयाससेग्रामीणक्षेत्रकीमहिलासमूहआत्मनिर्भरबनकरआर्थिकरूपसेमजबूतहोसकेंगी।उन्होंनेइसपहलकीसराहनाकरतेहुएहिडाल्कोप्रबंधनकीतारिफकीऔरमहिलासमूहोंकोउत्साहवर्धनभीकिया।मौकेपरबगडूकेसहायकमहाप्रबंधकविद्यासागरसिंह,हिडालकोजनसेवाट्रस्टकेप्रमुखनीरजकुमार,मानवसंसाधनविभागकेप्रबंधकश्वेतापाल,उपअधिकारीसीएसआरभास्करसिन्हा,मानवसंसाधनविभागकेवरीयअधिकारीमनोजकुमार,भूगर्भशास्त्रीगौरीशंकरप्रसाद,खननअभियंताअनिलसिंह,अखिलेशसिन्हा,स्वागतामैती,भास्करदासगुप्ता,रानीमिज,चैतीउरांव,उषामिज,अनितादेवी,बिलासमुनीदेवी,बुधवाउरांव,इरकनबेक,संगीमहिलामंडल,कल्याणीमहिलासमूह,जयसरनासमेतकुल14महिलासमूहकेप्रतिनिधिमौजूदरहे।जिनमेंग्रामबगडू,दलदलिया,बांडी,नीचेबगडू,करमटोली,जामुनटोली,चोरगांईंआदिकेसदस्यउपस्थितथे।

Previous post स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्य
Next post पत्थलगड़ी समर्थकों ने प्रखंडकर