चार माह के बाद उच्च विद्यालयों में आई रौनक

जागरणसंवाददाता,दुमका:सरकारकेआदेशकेबादशुक्रवारसेकोविडगाइडलाइनकापालनकरतेहुएसभीसरकारीवगैरसरकारीउच्चविद्यालयकेतालेखुलगए।विद्यालयोंमेंबच्चोंकेआनेसेचारमाहकेबादरौनकआई।बच्चोंकोनियमोंकापालनकरनेकेबादहीस्कूलमेंप्रवेशदियागया।

शुक्रवारकोकक्षाआठसेलेकर12वींकेबच्चेविद्यालयजानेलगें।कोरोनाकालमेंचारमाहकेबादविद्यालयोंमेंपढा़ईलिखाईशुरूहुई।कक्षा9से12तककेविद्यार्थीविद्यालयपहुंचेलेकिनउनकीसंख्याबहुतहीकमरही।प्लसटूजिलास्कूलमेंपहलेदिनकक्षाओंकासंचालनकियागया।कोविड19केनियमोंकेतहतएकबेंचपरकेवलएकछात्रकेबैठनेकीव्यवस्थाकीगईथी।सभीछात्रमास्कलगाकरआएथे।प्रभारीप्राचार्यडा.सत्येन्द्रकुमारसिंहनेबतायाकिपिछलेसालदिसंबरसेलेकरमार्चतकबच्चोंकेलिएविद्यालयखुलाथालेकिनकोरोनामरीजोंकीसंख्याबढ़नेकेकारणअप्रैलसेबंदकरदियागया।पहलेदिनअभिभावकोंकीसहमतिपरछात्रस्कूलपहुंचेथे।छात्रसेलेकरशिक्षकनेमास्कपहनाऔरशारीरिकदूरीकापालनकरतेकक्षामेंपढ़ाईकराई।आदेशकेअनुसारसभीस्कूलोंकोएकदिनपहलेसैनिटाइजकरदियागयाथा।थर्मलस्क्रीनिगऔरहैंडधुलवानेकेबादहीसभीकोप्रवेशकीअनुमतिदीगई।बच्चोंकोसहमतिपत्रदेतेहुएअभिभावकोंसेभरवानेकेलिएकहागया।महीनोंबादस्कूलोंमेंपहुंचेछात्रभीसहपाठियोंसेमिलकरकाफीखुशहुए।बहुतदिनोंसेछात्रोंकाऑफलाइनक्लासबंदथा।विद्यालयमेंप्रवेशकरतेसमयखुशीदेखीगई।प्रभारीनेबच्चोंसेकहाकिखतराअभीटलानहीहै,इसलिएस्वच्छताकोपूरीतरहअपनाएं।सार्वजनिकचीजोंकोछूनेकेबादअपनेहाथकोहैंडवाशएवंसाबुनसेअवश्यधोएं।

प्लसटूनेशनलउच्चविद्यालयउच्चविद्यालयमेंभीकोविड-19पालनकरतेहुएपढ़ाईशुरूहुई।छात्रसहमतिपत्रकेसाथपहुंचेथे।प्रवेशसेपहलेसभीकोसैनिटाइजकरथर्मलस्कैनिगकीगई।विद्यार्थियोंमेंकाफीउत्साहदिखा।प्रभारीप्राचार्यसुभाषचंद्रसिंहनेशिक्षकोंकेसाथबच्चोंकास्वागतकिया।

थर्मलस्क्रीनिगकेबादविद्यालयमेंप्रवेश

संस,रामगढ़(दुमका):कोरोनावायरसकीद्वितीयलहरथमनेकेबादसरकारसेछहअगस्तसेनौवींसेबारहवींतककेस्कूलकोखोलनेकानिर्देशमिलनेकेबादशुक्रवारकोरामगढ़स्थितप्लसटूविद्यालयमेंछात्रोंकेबीचपठन-पाठनकार्यप्रारंभकियागया।प्रभारीप्रधानाध्यापकदुष्यंतकुमारसिन्हानेबतायाकिपहलेदिनसभीछात्र

छात्राओंकीथर्मलस्क्रीनिगकरतेहुएप्रवेशकरायागया।छात्राओंकोसैनिटाइजभीकियागया।पहलेदिनउन्होंनेसभीछात्रएवंछात्राओंकोसहमतिपत्रकाप्रपत्रप्रदानकरतेहुएअभिभावकसेविद्यालयआनेकीसहमतिप्रपत्रभरवाकरलानेकोकहा।दुष्यंतकुमारसिन्हानेकहाकिविद्यालयमेंआठसे12बजेतकपठन-पाठनकार्यकरायाजाएगा।इससेपूर्वविद्यालयकेसभीकमरोंकोसैनिटाइजकियागया।छात्र-छात्रोंकोशारीरिकदूरीबनाकरबैठायाजारहाहै।सभीछात्रोंकोप्रतिदिनमास्कपहनकरविद्यालयआनेकानिर्देशदियागयाहै।बिनामास्कवालेछात्राओंकोविद्यालयमेंप्रवेशकीअनुमतिनहींदीजाएगी।वहींयदिकिसीछात्र-छात्राकीतबीयतखराबहोतीहैतोवहअपनेघरपरहीरहेऔरइसकीसूचनाविद्यालयकेप्रधानाध्यापककोदें।हालांकिपहलेदिनउपस्थितिथोड़ीकमथी।

Previous post आसपास के लिए भी:::पहले वीडियो
Next post अपनों का मिला साथ तो रोजगार को