Coronavirus Effect: हमेशा स्मृति में रखने को बच्चा पैदा हुआ तो नाम रखा लॉकडाउन, अब गांव का नाम रखेंगे कोरोना

जयपुर, नरेन्द्रशर्मा।कोरोनामहामारीकेखिलाफसरकारऔरसमाजकेलोगअपने-अपनेढंगसेजंगलड़रहेहैं।कोरोनासंक्रमणकोफैलनेसेरोकनेकेलिएसरकारनेतीसरीबारलॉकडाउनबढ़ायाहै।एकतरफतोइसमहामारीसेआमलोगपरेशानहै,वहींदूसरीतरफकुछलोगइससंकटकोभीयादगारबनानेमेंजुटेहैं।ऐसीहीएकघटनाराजस्थानकेदौसाजिलेमेंहुई।

यहांएकपरिवारमेंबच्चेकाजन्महुआतोउसकानामबुजुर्गोंने"लॉकडाउन"रखदिया।दौसाजिलेकेघूमनागांवमेंबाबूलालमीणाकीपत्नीआशादेवीनेपिछलेमाहबेटेकोजन्मदिया।बच्चेकाजन्मगांवकेपासहीगीजगढ़स्थितिसामुदायिकचिकित्साकेंद्रमेंहुआ।रविवारकोपरिवारनेबच्चेकानामकरणकिया।बाबूलालमीणाकाकहनाहैकिबच्चेकानामतयकरनेकोलेकरपरिजनोंमेंचर्चाहुई।कुछलोगोंनेस्थानीयपरंपरागतनामसुझाए।इसीबीचएकचर्चायहआईकिकोरोनाजैसीमहामारीसदियोंबादआईहै।

देशनेपहलीबारलॉकडाउनदेखाहै।कोरोनाऔरलॉकडाउनकीयादकोहमेशाकेलिएताजारखनेकेलिएउन्होंनेअपनेबच्चेकानाम"लॉकडाउन"रखलिया।गांवकेलोगोंकाकहनाहैकिजबभीबच्चेकोनामसेपुकारेंगेतोलॉकडाउनकीयादताजाहोजाएगी।उधरकोरोनामहामारीकीस्मृतिकोहमेशाकेलिएयादरखनेकेलिएदौसाजिलेकेहीएकगांवकानामही"कोरोना"रखनेकोलेकरग्रामीणोंनेअभियानचलायाहै।पापड़दा

गांवकेलोगचाहतेहैंकिउनकेगांवकानामअबकोरोनारखलियाजाए।लॉकडाउनखत्महोतेहीइसकेलिएपंचायतकीबैठकबुलाईजाएगीऔरफिरयहांसेप्रस्तावपारितकरजिलाकलेक्टरकोभेजाजाएगा।ग्रामीणसोहनलालकाकहनाहैकिअगरहमगांवकानामपापड़दासेबदलकरकोरोनारखनेमेंसफलहोगएतोयहस्मृतिहमेशारहेगीकिएकबारमहामारीआईथी,जिससेपूरीदुनियापरेशानहोगईथी।आनेवालीपीढ़ियांयादकरेगीकिउसमहामारीकाकोईइलाजभीनहींथा।

Previous post जज ने जूनियर महिला को भेजे अश्
Next post जामताड़ा की तरह यूपी का बदायूं