चुनावों में आधी आबादी का अब तक रहा है दबदवा

मधेपुरा।चुनावकीडुगडुगीबजतेहीसमाजवादकीधरतीमधेपुरामेंभीचुनावीशोरगुंजनेलगाहै।चुनावीशोरकेबीचटिकटवितरणसेलेकरहार-जीततककीरणनीतिपरचर्चाहोनेलगीहै।

मतदाताओंकेरूझानकोदेखेंतोइसइलाकेकेचारोंविधानसभाक्षेत्रमेंपुरुषोंकेमुकाबलेमहिलामतदाताओंकावोटदेनेकेप्रतिदिलचस्पीअधिकरहीहै।2015मेंहुएविधानसभाचुनावकीबातकरेंतोमहिलामतदातापुरुषोंकेमुकाबलेमेंवोटदेनेमेंकाफीआगेरहीहैं।यहीस्थितिवर्ष2019केहुएलोकसभाचुनावमेंभीदेखनेकोमिली।लोकतंत्रकेइसपर्वमेंमहिलामतदाताओंकीअधिकहिस्सेदारीरहनेकीकईवजहराजनीतिकेजानकारबतारहेहैं।

जानकारोंकीमानेंतोकोसीकेइसइलाकेमेंरोजगारकाकाफीअभावहोनेकेकारणअधिकांशपुरुषमतदातारोजगारकेलिएमहानगरोंकीओरपलायनकरजातेहैं।इसवजहसेयहांअधिकांशग्रामीणक्षेत्रोंमेंमहिलामतदाताहीरहतीहैं।यहीवजहहैकिइसक्षेत्रमेंमहिलामतदाताओंकामतप्रतिशतकाफीअधिकरहताहैं।दूसरीओरमहिलाओंकेशिक्षितहोनेऔरराजनीतिकजागृतिआनेकीवजहभीमानीजारहीहै।2015केविसचुनावमें10प्रतिशतसेअधिकरहाहैअंतर2015मेंहुएविधानसभाचुनावमेंजिलेकेचारोंविधानसभाक्षेत्रमेंमहिलावपुरुषमतदाताओंकेमतप्रतिशतपरगौरकरेंतोयहअंतर10प्रतिशतसेअधिककारहाहै।चारोंविधानसभाक्षेत्रमेंपुरुषऔरमहिलामतदाताओंकोमिलाकर60.32प्रतिशतवोटडालेगएथे।मतदानमेंजहां55.23प्रतिशतभागीदारीपुरुषमतदाताओंकीरहीथी।वहींमहिलामतदाताओंकीभागीदारी65.97प्रतिशतरहीथी।विधानसभावारगौरकरेंतोमधेपुराविधानसभामेंजहां56.48प्रतिशतपुरुषमतदाताओंनेवोटडालेथे।वहींमहिलावोटरोंकीभागिदारी64.13रहीथी।सिंहेश्वरविधानसभाक्षेत्रमें52.35प्रतिशतपुरुषोंनेवोटडालेथे।वहीं65.65प्रतिशतमहिलाओंनेलोकतंत्रकेपर्वमेंहिस्सालियाथा।बिहारीगंजमेंविसक्षेत्रमेंजहां54.82प्रतिशतपुरुषोंनेवोटडालेथे।वहीं68.32प्रतिशतमहिलाओंनेअपनेमताधिकारकाप्रयोगकियाथा।इसीतरहआलमनगरविसक्षेत्रके57.27प्रतिशतपुरुषोंनेमतदानमेंहिस्सालियाथा।वहीं65.79प्रतिशतमहिलावोटरोंकीहिस्सेदारीरहीथी।2019केलोकसभाचुनावमेंभीकमोवेशयहीस्थितिदेखनेकोमिली।

पुरुषोंकाकमप्रतिशतकेपीछेपलायनहैबड़ीवजह

समाजवादकागढ़मानेजानेवालेमधेपुराजिलेमेंरोजगारकीकमीएकबड़ीवजहरहीहै।यहीवजहहैकियहांकेग्रामीणइलाकोंसेबड़ेपैमानेपररोजगारकोलेकरपुरुषोंकापलायनहोनाआमबातहै।राजनीतिकेजानकारोंकामाननाहैकिपुरुषोंकाकममतप्रतिशतहोनाकोईनहींबातनहींहै।बाढ़औरसुखाड़कादेशझेलनेवालेइसइलाकेकेलोगरोजी-रोजगारकोलेकरप्रतिदिनमहानगरोंकीओरचलेजातेहैं।चुनावकेसमयरोजगारवस्वरोजगारउपलब्धकरानेकाआश्वासनवर्षोंसेयहांकेलोगोंकोमिलतारहाहै,लेकिनऐसाआजतकसंभवनहींहोसका।

Previous post गांव रभड़ा में शराब कारोबारी की
Next post महिला की संदिग्ध हालात में मौत