डायरिया का बढ़ा प्रकोप, एक ही परिवार से 8 लोग बीमार

बगहा।रामनगरप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रमेंगुरुवारकोडायरियासेग्रसितएकहीपरिवारके8लोगोंकोभर्तीकरायागयाहै।जिनकाइलाजचलरहाहै।पीड़ितमरीजोंमेंवृद्धकेसाथहीमहिलाऔरआधादर्जनबच्चेभीशामिलहैं।मरीजोंकीपहचानमहुईगांवकेकरमुल्लाहआलमकीवृद्धमातामिसरूखातून,तीनवर्षीयनाहिदाखातून,दिलनवाज(3)वर्ष,दिलशाद(5)वर्ष,भतीजीनूरीखातून(10)वर्ष,भाईकीपत्नीकुलसुमखातून(27)वननकी(03)केरूपमेंकीगईहै।प्रभारीचिकित्सापदाधिकारीडॉ.चंद्रभूषणसभीमरीजोंकाप्राथमिकउपचारकररहेहैं।बतायाकिसबकीहालतपरनजररखीजारहीहै।बतायाजाताहैकिगुरुवारकोकरमुल्लाहआलममजदूरीकरनेगएथे।इसीदौरानघरसेखबरआईकिघरमेंसबकोउल्टीहोरहीहै।घरपरपहुंचेतोसभीग्रस्तमरीजोंकोलेकरअस्पतालआए।इधरचिकित्सकनेबतायाकिमरीजोंकेघरपरबीतेएकदोदिनपहलेशादीकाआयोजनहुआथा।यहबीमारीबासीभोजनयामांसमछलीखानेसेभीहोसकताहै।

गांवमेंभेजीगईमेडिकलटीम

बदलतेमौसममेंडायरियायाफूडप्वाइजनिगकीसमस्याकिसीकोभीहोसकतीहै।इसकेलिएप्रभारीचिकित्सापदाधिकारीनेबतायाकिबासी,ज्यादातलीएवंभारीखानासेपरहेजकरें।हल्काखानाखाएं।साग,हरीसब्जी,खीरा,ककड़ीएवंफलखूबलें।पानीअधिकसेअधिकपीएं।इसकेबादभीऐसीस्थितिआतीहैतोनजदीकीस्वास्थ्यकेंद्रमेंसंपर्ककरें।बच्चोंकोलेकरविशेषसावधानीबरतनेकीआवश्यकताहै।इसकोलेकरउक्तगांवमेंमेडिकलटीमभेजीजारहीहै।गांवकेलोगोंकोभीअलर्टकियाजाएगा।

Previous post छह वर्षीय बच्चे की पत्थर मारकर
Next post सामाजिक कार्यों में झांझरा महि