दरभंगा के हिरणी चांदनी चौक-बडग़ांव मार्ग पर सफर मुश्किल, अब तक नहीं हो सका निदान

दरभंगा,जेएनएन।प्रखंडकेबडग़ांवगांवकोमुख्यसड़कसेजोडऩेवालीहिरणीचांदनीचौक-बडग़ांवमार्गजानलेवाहै।सड़ककेगड्ढेऔरबिनापहुंचपथकेपुलइधरसेगुजरनेवालोंकेलिएखतरेकापर्यायहैं।प्रखंडमुख्यालयसेमहज5किलोमीटरकीदूरीपरस्थितइसगांवकीआबादीकरीब7हजारहै।घनीआबादीवालेइसगांवकेलोगोंकोमुख्यसड़कतकपहुंचनेकेलिएएकअददपक्कीसड़कनहींहै।करीबडेढ़दशकसेइसगांवकेलोगटूटीजर्जरसड़कपरजानजोखिममेंडालकरसफरकरतेहैं।खासतौरपरबाढ़एवंबारिशकेमौसममेंइससड़कपरसफरकरनामुश्किलहोजाताहै।

बतादेंकिसबसेपहलेइससड़ककोवर्ष1985मेंआरईओनेबनवायाथा।तबईंटसोङ्क्षलगहुईथी।इसकेबाद पंचायतसमितिमदसेवर्ष2005मेंसड़कपरफिरसेईंटसोङ्क्षलगकीगई।लेकिन,हरसालआनेवालीबाढ़केकारणसड़ककीस्थितिजर्जरहोचुकीहै।जगह-जगहबाढ़केपानीकेदबावकेकारणसड़कटूटकरगड्ढेमेंतब्दीलहोगईहै।पिछले15वर्षोंमेंइससड़ककीमरम्मतनहींहोनेसेयहजर्जरऔरजानलेवाहोगईहै।हालतयहहैकिवाहनकीबाततोदूरइसपरपैदलभीचलनाभीखतरेसेखालीनहींहै।

ग्रामीणपूर्वमुखियाबादलङ्क्षसह,ई.अखिलेंद्रकुमारङ्क्षसह,उपेन्द्रराय,कन्हैयाङ्क्षसह,रामजपोमहतोसहितकईलोगोंनेबतायाकिइसगांवसेमहजतीनकिलोमीटरकीदूरीपरस्थितस्टेटहाइवे56मुख्यसड़कसेइसेजोडऩेकेलिएकईबारस्थानीयसांसद,विधायक,डीएमतथाविभागीयअधिकारियोंसेगुहारलगाईगई।लेकिन,अबतकयहसड़कजर्जरस्थितिमेंहै।सड़कनहींबननेसेआसपासकेलोगोंमेंकाफीनाराजगीहै।इससड़पपरगाड़ीसेचलनातोदूरकीबातहै।पैदलचलनाभीमुश्किलहै।

Previous post सिलेंडर लीक होने से भड़की आग, म
Next post ट्रैक्टर की चपेट में आने से बच