दतिया में विकास तो हुआ, पर और कुछ करना है जरूरी

खूंटी:चुनावकानामआतेहीलोगमुखरहोजातेहैं।लोगोंकीअपेक्षाएंबढ़जातीहैं।खूंटीनगरपंचायतअंतर्गतआनेवालेदतियागांवमेंहरओरसेविकासकीकिरणेंझांकरहीहैं।पक्कीसड़क,हरघरमेंबिजलीवपानीकीसुविधा,सड़कोंकेकिनारेलगीस्ट्रीटलाइटऔरउत्क्रमितमध्यविद्यालय।यहकुछबानगीहै,जोयहबतानेकेलिएकाफीहैकिइसगांवमेंविकासकीगंगाबहरहीहै।नेताओंसेअपेक्षाएवंविकासयोजनाओंकाहालजाननेकेलिएदैनिकजागरणकीओरसेरविवारकोआयोजितचौपालमेंग्रामीणोंनेअपनेजनप्रतिनिधिवसरकारीयोजनाओंपरखुलकरअपनीबातरखी।

स्थानीयग्रामीणविकाससाहूऔरकमलमहतोनेकहाकिपिछलेपांचसालमेंगांवमेंकाफीतेजीसेविकासकार्यहुएहैं।सभीमूलभूतसुविधाएंगांवमेंउपलब्धहैं।लेकिनस्वास्थ्यकेक्षेत्रमेंकामकरनेकीजरूरतहै।चूंकिगांवशहरसेसटाहुआहै,इसलिएबीमारीहोनेपरहमसदरअस्पतालयानिजीचिकित्सकोंसेइलाजकरालेतेहैं।लेकिन,गांवमेंएकस्वास्थ्यउपकेंद्रहोनाचाहिए,ताकिरात-बिरातकोईतकलीफहोतोतत्कालप्राथमिकइलाजसंभवहोसके।प्रदीपकुमारमहतोनेकहाकिगांवमेंहमेंकिसीप्रकारकीकोईतकलीफनहींहै।हरसुविधामुहैयाहैऔरइसकासबसेबड़ाश्रेयप्रधानमंत्रीकोजाताहै,क्योंकिजबसेकेंद्रमेंनरेन्द्रमोदीकीसरकारबनीहैतबसेविकासकार्योंमेंअत्यधिकतेजीआयीहै।इसकानतीजायहहैकिकेंद्रवराज्यसरकारकीसभीविकासयोजनाओंकालाभहमलोगोंकोमिलरहाहै।चर्चामेंभागलेतेहुएरविमहतोनेकहाकिजोसरकारआजहैवहीआगेभीरहे,ताकिविकासकार्योंमेंजोकुछकमीरहगयीहैवहभीपूरीहोजाए।उन्होंनेकहाकिआजहमारेगांवमेंहरघरमेंबिजलीहै।उज्ज्वलायोजनाकेतहतसभीघरोंकोगैसकनेक्शनमिलचुकाहै।सभीलोगोंकागोल्डेनकार्डभीबनाहै।धरमूमहतोनेबतायाकिऐसेलोगजिनकेपासअपनामकाननहींथा,उन्हेंप्रधानमंत्रीआवासयोजनाकेतहतआवासमिलगयाहै।साथहीजोलोगभूमिहीनहैंउनकेलिएनामकुममेंकॉलोनीबनाईजारहीहै।उमेशकश्यपनेकहाकिपहलेकीसरकारेंआदिवासियोंवदलितोंकोहीआवासदेतीथीं।लेकिनप्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीकीसरकारहरजातिवहरवर्गकेगरीबलोगोंकोआवासउपलब्धकरारहीहै।इसलिएहमारामाननाहैकिऐसीसरकारकोआगेभीसत्तामेंरहनाचाहिए।तुलसीगंझूनेकहाकिगांवमेंतोहरप्रकारकीसुविधाहै,लेकिनएककामऔरहोजाएतोग्रामीणोंकोकाफीसहूलियतहोगी।दतियादेवीगुड़ीसेपुरनाडीहहोतेहुएबेलाहांथीरोडतकपक्कीसड़कबनजाएतोग्रामीणोंकोअपनेखेतोंसमेतअन्यत्रकहींजानेमेंसहूलियतहोगी।उन्होंनेकहाकिइससड़ककेनिर्माणकीमांगकईवर्षाेंसेकीजारहीहै।20फीटचौड़ीसड़ककेलिएग्रामीणस्वेच्छासेअपनीजमीनदानकरचुकेहैं।कुछवर्षपूर्वनगरपंचायतनेसड़कनिर्माणकीप्रक्रियाशुरूकीथीलेकिनकिसीकारणवशकामआगेनहींबढ़ा।

Previous post दीवार फांदकर महिला को खींचकर ल
Next post पगडंडियों पर खुद को संभाल रही