Ghaziabad: गांव के स्वास्थ्य केंद्रों पर लटका ताला सरकार की कोशिशों को लगा रहा पलीता, पढ़ें ये खास रिपोर्ट

गाजियाबाद:शहरोंमेंसंक्रमणकीरफ्तारकमहोनेकेबादकोरोनामहामारीअबगांवोंकोअपनीचपेटमेंलेरहीहै.गांवमेंस्वास्थ्यसेवाओंकाहालक्याहै,इसकेलियेगाजियाबादमेंएबीपीगंगानेपड़तालकी.हालांकि,स्थितिबहुतअच्छीनहींहै.उत्तरप्रदेशकेगांवकीतस्वीरेंदेखकरउत्तरप्रदेशहाईकोर्टकेशब्दपरजरूरगौरफरमाएंगे.हाईकोर्टनेसरकारकोफटकारलगातेहुएकहाथाकिगांवकीस्वास्थ्यव्यवस्थारामभरोसेहैं.

सरकारकोमुंहचिढ़ारहाहैस्वास्थ्यकेंद्रपरलगाताला

हकीकतजाननेकेलिये,इसकड़ीमेंहमनेगाजियाबादकेगांवमेंस्वास्थ्यसामुदायिककेंद्रकारियलिटीचेककियाऔरजोतस्वीरेंसामनेआईवहबेहदहीनिराशाजनकथी.क्योंकियहतस्वीरेंउत्तरप्रदेशकेमुखियायोगीआदित्यनाथकेबयानसेमेलनहींखारहीथी.गाजियाबादमुरादनगरब्लॉककेअबूपूरमेंहालातसरकारकोमुंहचिढ़ानेवालेहैं.यहांलगभगसाढ़ेआठहजारकीआबादीहै,लेकिनउसकेबावजूदभीयहांसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रपरतालालगाहै.कोईभीडॉक्टरयाफिरस्टाफयहांमौजूदनहींहै.

समयसुबहके11:30बजेहैं.यहहालातगांवमेंतबहै,जबगांवमेंलगातारमौतेंदेखनेकोमिलरहीहैं.हालांकिग्रामप्रधानकाकहनाहैकिगांवमेंकोरोनाटेस्टकीसुविधानाहोनेकेकारणइनमौतोंकोकोरानासेहोनेवालीमौतेंनहींकहाजासकताहै.लेकिनअभीभीगांवमेंलगभग50से60लोगऐसेहैंजिनकोकोरोनावायरसकेलक्षणहैं.उनकाघरमेंहीइलाजकियाजारहाहै.अबजराअंदाजालगाइएकि,जबगांवमेंइसतरहकेहालातलगातारसामनेआरहेहैं,दूसरीऔरउत्तरप्रदेशसरकारकाकहनाहैकिगांवमेंस्थितिनियंत्रणकरनेकेलिएलगातारप्रयासजारीहैं.लेकिनप्रशासनकीलापरवाहीकीतस्वीरसबकेसामनेहै.

गांवसोंदाकेसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रकाहालबेहाल

इसकेबादहममुरादनगरब्लॉककेहीगांवसोंदापहुंचेऔरवहांजाकरहमनेसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रकाजायजालिया.यहांभीसिर्फगांवकानामबदलाथा,आबादीबदलगईथी,लेकिनहालातपहलेगांवसेभीबदतर.यहांसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रकेगेटकेसामनेगंदगीकाअंबारलगाहै.इसगंदगीसेआपअंदाजालगासकतेहैंकि,सामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रपरजोतालालटकाहैवहकितनेदिनकाहोगा.यहांकेलोगोंसेहमनेजाननेकीकोशिशकीतोउन्होंनेकहाकि,जहांयहबहुतसेदिनोंसेबंदपड़ाहै.कोईभीडॉक्टरयहांनहींआताहैऔरअगरउन्हेंकिसीतरहकीकोईपरेशानीहोतीहै,तोउन्हेंमुरादनगरमोदीनगरयाफिरगाजियाबादजानापड़ताहै.

यहांपरअगरकिसीभीव्यक्तिकोकोरोनाकेलक्षणहोजातेहैं.वहअपनीजांचऔरइलाजतकनहींकरवासकताहै.जबकिगांवऔरदेहातमेंकहागयाहैकि,गांवमेंहीसभीतरहकीव्यवस्थाकीजारहीहै.लेकिनयहदावेभलाकिसकामकेजबआमइंसानकोइनकाफायदानामिलसके.यहहालातगाजियाबादमेंतबहै,जबखुदगाजियाबादकेहीरहनेवालेअतुलगर्गउत्तरप्रदेशराज्यसरकारसेस्वास्थ्यमंत्रीहैं.उसकेबावजूदअगरऐसेहालातजिलागाजियाबादकेदेहातीइलाकोंकेहैं,तोआपअंदाजालगासकतेहैंकिबाकीगांवकेहालातकितनेबदतरहोसकतेहैं.

स्वास्थ्यकेंद्रऔरकूड़केढेर

इसकेबादहममुरादनगरनहरपरस्थितपैंगागांवमेंपहुंचे.गांवकीगलियांमानोऐसेसन्नाटेकोचीररहीथीकिवर्षोंसेयहांकोईरहाहीनाहो.यहांकेसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रकीजबहमनेतस्वीरेंदेखीतोदेखतेरहगए.स्वास्थ्यकेंद्रकीहालतदयनीयथी.गेटपरतालालगाहुआथा.

यहतोसिर्फगाजियाबादकेतीनगांवकीतस्वीरहमनेदिखाई.इसकेअलावाजिलागाजियाबादमें161गांवहैं.अबआपअंदाजालगासकतेहैंकि161गांवकीतस्वीरेंकितनीभयंकरहोगी,जबकिदेहातीइलाकोंमेंलगातारमौतेंहोरहीहैं.बसइनमरनेवालेलोगोंकाकसूरइतनाहै,किउन्होंनेअपनाकोविडटेस्टनहींकराया.जिसकेचलतेइनकीमौतेंसरकारीआंकड़ोंमेंनहींगिनीजारहीहैं.लेकिनइनसभीलोगोंमेंकोरोनाकेलक्षणकेबादघरपरइलाजकरनेपरइनकीमौतेंहुईहैं.ऐसागांवकेलोगोंकाकहनाहैलेकिनगांवकीस्वास्थ्यव्यवस्थारामभरोसेहै.

CMयोगीबोले-चुनावड्यूटीमेंकोरोनासेजानगंवानेवालेकर्मचारियोंकेपरिजनोंकाकरेंगेपूरासहयोग

Previous post ग्रामीणों ने बनाए तीन सीरियल ब
Next post अज्ञात कार चालक पर केस दर्ज