गोपालगंज की कौशल्या की दिखाई राह से बदल रही गरीबों की किस्मत

जागरणसंवाददाता,गोपालगंज:बातदियाराइलाकेकेखापमकसूदपुरगांवकीकौशल्यादेवीसेकरतेहैं।चारसालपूर्वकौशल्यादेवीसूखीमछलीकेकारोबारसेइलाकेकेलोगोंकोअवगतकराईथी।उनकेप्रयाससेगांवकेदर्जनभरसेअधिकपरिवारइसकारोबारसेजुड़गए।आजहरेकसालसभीपरिवारलाखोंरुपयेकमारहेहैं।

सदरप्रखंडकेदियाराइलाकेकीपहचानकरीबतीनदशकसेबाढ़वकटावकेलिएहीहोतीहै।दियाराकेमकसूदपुरगांवकीकौशल्यादेवीअसमकेगुवाहाटीमेंरहतीथी।पांचसालवहअपनेपुत्रोंकेसाथवहांसेघरआगईं।यहांउन्होंनेबाढ़कीतबाहीकाआलमदेखा।गंडकनदीकेपानीकेप्रकोपवबाढ़कोहीउन्होंनेकमाईकाजरियाबनानेकीसोची।इसकाममेंगुवाहाटीमेंमछलीसुखानेकीविधिकीजानकारीउनकेकामआया।उन्होंनेपरिवारकेसदस्योंकेसाथमिलकरमछलियोंकोखरीदकरउन्हेंसुखानेवफिरउसेअसमकेविभिन्नजिलोंमेंभेजनेकासिलसिलाशुरूकिया।एकसालकेकेबादगांवकेअन्यपरिवारकेलोगभीउनसेजुड़नेलगे।महजतीनसालकीमेहनतकेबादखापमकसूदपुरगांवमेंतैयारकीगईंसूखीमछलियांबड़ेपैमानेपरअसमकेविभिन्नइलाकोंमेंभेजीजानेलगीं।परिवारकेसदस्यमछुआरोंसेमिलकरउनसेमछलीखरीदनेकेबादउन्हेंसुखातेहैं।सुखानेकेबादपैककरउन्हेंट्रकसेअसमभेजाजाताहै।इनसेट

छोटीमछलियोंकीमांगअधिकगोपालगंज:कौशल्यादेवीबतातीहैंकिवैसेतोहरतरहकीसूखीमछलीकीसप्लाईअसममेंकीजातीहै।वहांछोटीमछलियोंकीमांगअधिकहै।सूखीछोटीमछलीअसममेंसातहजाररुपयेप्रतिक्विंटलकीदरसेबिकतीहै।वहींबड़ीमछलियोंकीकीमत60हजाररुपयेप्रतिक्विंटलतकमिलजातीहै।असममेंसबसेअधिककीमतटेंगरामछलीकीमिलतीहै।असममेंएककिलोसूखीटेंगरामछलीकीकीमतछहसौरुपयेमिलतीहै।मांगकेअनुसारहीमछलियोंकीसप्लाईयहांसेकीजातीहै।इनसेटअबगांवमेंहीभरजाताहैट्रकगोपालगंज:कौशल्यादेवीनेबतायाकिप्रारंभमेंइसधंधेमेंलोगनहींआरहेथे।लेकिन,अबहरसालकईपरिवारोंसेलोगइससेजुड़रहेहैं।इसकाफायदायहहोरहाहैकिगांवमेंहीट्रकभरनेलायकमालतैयारहोजाताहै।इसकेलिएदूसरेकारोबारियोंसेसंपर्ककरनेकीजरूरतनहींहोती।

Previous post मसलिया में करंट लगने से महिला
Next post प्रेम प्रसंग में युवक की मौत स