हरियाणा पुलिस के इस जवान का एक ही मिशन, जानकर रह जाएंगे हैरान

यमुनानगर,जेएनएन।स्टेटक्राइमब्रांचकीएंटीह्यूमनट्रेफिकिंगयूनिटमेंतैनातएएसआइराजेशकुमारकाएकहीमिशनहैकिवहपरिवारसेबिछड़चुकेलोगोंकोमिलाए।अबतकअपनोंसेबिछड़ेहुएकरीब500महिलाओं,पुरुषोंवबच्चोंकोवहमिलाचुकेहैं।कईऐसीमहिलाओंकोवहतलाशचुकेहैं,जिनसेमिलनेकीआसउनकेपरिवारकेलोगछोड़चुकेहैं।

अभीउन्होंनेउत्तरप्रदेशकेसुलतानपुरजिलेकीरहनेवालीमहिलाकोतलाशा।यहमहिलासरस्वतीनगरकेगांवमगरपुरमेंबनेनीआसरादाआसराआश्रममेंरहरहीथी।यहमहिलामानसिकरूपसेबीमारहै।जिसवजहसेपरिवारसेबिछड़करअंबालामेंपहुंचगईथी।एएसआइराजेशनेअंबालापुलिससेबातकरमहिलाकोमगरपुरगांवमेंबनेआश्रममेंरखवाया।फिरउसकेपरिवारकीतलाशशुरूकी।एएसआइराजेशकुमारनेबतायाकिमहिलाकेबारेमेंसुलतानपुरजिलेमेंसंपर्ककियागया,लेकिनकोईपतानहींलगा।बादमेंइसमहिलाकीफोटोफेसबुकपरडाली।साथमेंअपनामोबाइलनंबरभीडाला।कुछदिनोंबादउनकेमोबाइलपराकालआईऔरएकव्यक्तिनेमहिलाकेबारेमेंजानकारीदी।जिसपरमहिलाकेपरिवारसेसंपर्ककियाऔरमहिलाकेपरिवारकोबुलाया।महिलाकीपहचानद्रोपदीकेरूपमेंहुई।उसकापतिश्यामलालउसेलेनेपहुंचा।

2016सेलेकरअबतकतलाशे500गुमशुदा

एएसआइराजेशकुमारनेबतायाकिवर्ष2016सेलेकरअबतकवहकरीब500महिलाओंवबच्चोंकोउनकेपरिवारोंसेमिलाचुकेहैं।दिल्लीसेवर्ष2002मेंलापताहुईमहिलाको11सालबादउनकेपरिवारसेमिलवायाथा।उसमहिलाकोकेवलइतनाहीयादथाकिराजस्थानमेंउसकीबहनहै।फिरराजस्थानमेंउसकीबहनकोतलाशागयाऔरउसकेजरिएमहिलाकोपतिसेमिलाया।इसीतरहसेराजस्थानकेधालीवाड़कीरहनेवालीछहसालकीबच्चीगुमहोगईथी।यहबच्चीचलतीट्रेनसेगिरगईथी।इसकेबादउसकापतानहींलगा।लड़कीकोकेवलइतनायादथाकिउसकीमांसाड़ीवघाघराचौलीपहनतीहै।गांवमेंउनकेहवेलीहै।इसीआधारपरतलाशशुरूकी।यहलड़कीबहादुरगढ़मेंरहरहीथी।इसेभीपरिवारसेमिलाया।

आश्रमोंकाएकत्रकररखारिकॉर्ड

एएसआइराजेशकुुमारनेआश्रमोंकारिकॉर्डएकत्रकररखाहै।उन्होंनेदेशभरकेआश्रमोंकेकॉन्टेक्टनंबरजुटारखेहैं।इसीकेजरिएवहगुमशुदालोगोंकेबारेमेंइनआश्रमोंमेंपताकरतेहैं।एएसआइराजेशकाकहनाहैकिजबभीकोईपरिवारसेबिछड़ताहै,तोउसेकेवलआश्रमोंयाफिरमंदिरवगुरुद्वारामेंसहारामिलताहै।इसलिएइनसबजगहोंकेनंबरउन्होंनेजुटारखेहैं।अबतोआश्रमोंवमंदिरोंसेउनकेपासभीकिसीगुमशुदाकेबारेमेंकालआजातीहै।फिरवहउसकेआधारपरतलाशशुरूकरदेतेहैं।

Previous post विद्यार्थियों को नशे के दुष्प्
Next post सड़क निर्माण के लिए एनओसी न दे