हरकत में आया प्रशासन, बने शरणालय

सिद्धार्थनगर:उफनतीराप्तीकेबाढ़सेघिरेगांवकोबचानेकेलिएतहसीलप्रशासनमैदानमेंआचुकाहै।पांचदिनसेबाढ़केपानीसेघिरेगांवकेलिएकोईसुविधासहूलियतकेइंतजामनहींथे,जिसेजागरणनेलगातारप्रमुखतासेप्रकाशितकिया।शुक्रवारएसडीएमत्रिभुवननसिर्फखुदमोटरबोटसेबाढ़ग्रस्तगांवकेदौरेपरनिकलेबल्कितीनशरणालयऔरएककंट्रोलरूमभीडुमरियागंजमेंस्थापितकियागयाहै।जहांलेखपालऔरपुलिसकेजिम्मेदारड्यूटीकरेंगे।

तहसीलक्षेत्रमेंराप्तीकातांडवजारीहै।लोगघरसेबेघरहोरहेहैं।खरीफकीफसलडूबगईहै।आधादर्जनगांवटापूमेंतब्दीलहैंतो70सेअधिकगांवबाढ़केपानीसेघिरेहैं।राहतऔरबचावकेकामनहींहोरहेथेजिसेजागरणने20अगस्तकेअंकमेंप्रमुखतासेप्रकाशितकिया।असरहुआकिएसडीएमनेखुदमोर्चासंभाला।भरवठिया,पिकौरा,वीरपुरआदिगांवकामोटरबोटसेनिरीक्षणकिया।प्रभावितलोगोंकोधैर्यबंधानेकेसाथकोटेदारोंकोनिर्देशितकियाकिनिश्शुल्कराशनहरकार्डधारककोतत्कालवितरितकरें।प्रभावितगांवमेंनिगरानीसमितिकोलगायाजिसमेंप्रधान,लेखपाल,कोटेदार,रोजगारसेवकऔरआशाकार्यकर्ताशामिलहैं।इसकेअलावातहसीलपरिसरडुमरियागंजमेंबाढ़नियंत्रणकक्षबनायागयाहैजहांतैनातकर्मीराहतबचावकार्यकीमानिटरिगकरेंगे,औरमिलनेवालीसूचनाअधिकारियोंकोदेंगे।डुमरियागंज,विशुनपुरहरिऔरतरहरमेंबाढ़शरणालयभीबनाहै।एसडीएमत्रिभुवननेकहाकि50गांवबाढ़ग्रस्तहैं।चारमोटरबोटव30नावकीव्यवस्थाकीगईहै।बचावकेहरसंभवउपायकिएजारहेहैं।

Previous post फिरोजपुर कलां गांव की सरपंच न
Next post महिला की मौत स्वजनों ने लगाया