Indore News: पीने के पानी के लिए तरस रहा है एक गांव, एक डिब्बा पानी के लिए घंटों लगानी पड़ती है लाइन

इंदौर:गर्मीकीशुरुआतहोतेहीपानीकीसमस्या(DrinkingWaterCrisis)बढजातीहै.अभीतोमई-जूनकीगर्मीअभीबाकीहीहै.अप्रैलमेंहीप्रदेशकेकईशहरोंमेंपानीकीकिल्लतशुरूहोगईहै.जिसकीतस्वीरेंभीसामनेआनेलगीहैं.इंदौरजिलेकेगौतमपुराइलाकेकीतस्वीरभीअलगनहींहै.इससमस्याकेसमाधानकेलिएग्रामपंचायतनेइससालनिर्मलकुंआनिर्माणयोजनाकाप्रस्तावजनपदमेंदियाहै.

कैसेप्यासबुझातेहैंनोलानागांवकेलोग.

दरअसलयहतस्वीरकिसीसूखाग्रस्तगाँवयारेगिस्तानीइलाकेकीनहींहै.पानीकेडिब्बेलिएलंबीकतारमेंखड़ेयेबच्चे,बूढ़े,जवानइंदौरजिलेकेगौतमपुरासमीपस्थग्रामनोलानागांवकेहैं.यहनजारायहांअबआमहोचलाहै.क्योंकि2000लोगोंकीआबादीवालेइसछोटेसेगावमेंसरकारकीओरसेपीनेकेपानीकीकोईव्यवस्थानहींहै.इसइलाकेमेंयहआलमजाड़ा,गर्मीऔरबरसातहरमौसममेंरहताहै.गर्मीमेंयहसमस्याविकरालहोजातीहै.पूरागांवपीनेकेपानीकेलिएजद्दोजहदकरताहुआनजरआताहै.

इसगांवसे150मीटरकीदूरीपरचंबलनदीगुजरतीहै.परंतुगांवमेंपीनेकेपानीकीव्यवस्थावर्षोंसेनसरकारनेकीनहीसांसदनेओरनहीकिसीविधायकने.इसवजहसेहरवर्षलोगोंकोप्यासबुझानेकेलिएमुश्किलोंकासामनाकरनापड़ताहै.गांवमेंऔरगांवकेआसपासजितनेभीबोरिंगकरवाएगएहैं,सभीजगहगंदाओरमैलापानीआताहै.जिसेपीनायानीअपनीजानकेसाथखिलवाड़करनाहै.

पीनेकेपानीकेलिएक्याकहतेहैंग्रामीण

ग्रामकेराधेश्यामसैनीकेअनुसारग्रामपंचायतद्वारापीनेकेपानीकीकोईव्यवस्थानहींहै.रोजानाग्रामीणोंकोयातो02से04किमीदूरकिसीकेखेतसेपानीकेडब्बेभरकरघरलानापड़ताहैयाकईघंटेलंबीकतारमेंखड़ेहोनेकेबादअपनेनिजीबोरिंगसेग्रामवासीकोसेवादेरहेदिलावसिंहदरबारकेयहांसेपानीलाकरअपनेपरिवारकीप्यासबुझानीपड़तीहै.

अभीपानीकेलिएगांवकेहीदिलावरसिंहदरबारऔरउमेसिंहकाखेतगांवसे1किमीदूरहै.जहांउनकेबोरिंगमेंमीठापानीहै.ग्रामीणोंकीसुविधाकेलिएदरबारनेनिजीखर्चसेअपनेखेतसेगाँवतक1किमीकिपाइपलाइनडालीऔरमोटरलगवाईहै.सभीग्रामीणोंकीपानीकीसमस्याओंकोदेखतेहुए.

एककिमीदूरसेआताहैपीनेकापानी

वहसुबह07बजेसेवहअपनेघरपरगांववालोंकोपीनेकापानीमिले,इसकेलिएमोटरचालूकरतेहैं.इसदौरानगांवकेसभीलोगलंबीकतारलगाकरअपनेअपनेडब्बेमेंपीनेकापानीभरकरलेजातेहैं.इससेवोअपनीप्यासबुझातेहैं.लेकिनवहांभीनलकूपमेंकमपानीआनेसेपानीकीस्पीडभीघटती-बढ़तीरहतीहै.इससेवहांइसदौरनबड़ीसंख्यामेंकतारलगजातीहै.बच्चे,महिलाएंसभीघण्टोंधूपमेंखड़ेहोकरअपनेडिब्बेभरनेतकइंतजारकरतेहै.जैसेतैसेलोगपीनेकापानीभरलेतेहै.कईबारवहांविवादकीस्थितिभीबनजातीहै.

गौतमपुराकाग्रामनोलानाजिलेकाएकमात्रऐसागांवहैंजोआजभीइतनापिछड़ाहैकियहांपीनेकेपानीतककिकोईव्यवस्थानहींहै.इससेपूरेगांवकेलोगपरेशानहैं.गांवकेलोगोंनेजिलेकेसांसद,विधायक,पूर्वविधायक,एसडीएम,जनपदसीओकोलिखितमेंकईबारसमस्यासेअवगतकरायाहै,लेकिनउन्हेंआश्वाशनकेसिवाकुछनहींमिलाहै.उनकीपीनेकेपानीकेकमीकीसमस्याजसकीतसहै.

पहलेहुईथीबोरिंग,नहींआताथासाफपानी

ग्रामपंचायतकेसचिवजितेंद्रचौहाननेभीमानाकिगांवमेंपीनेकेपानीकीकिल्लतहै.इससेग्रामीणजूझरहेहैं.सचिवनेबतायाकिपंचायतनेकईबोरिंगकराएपरउसमेंमैलाओरगंदापानीनिकलाजोपीनेयोग्यनहींथा.इससंबंधमेंसभीउच्चअधिकारियोंकोअवगतकरादियागयाहै.इसवर्षपंचायतनेनिर्मलकुंआनिर्माणयोजनाकाप्रस्तावजनपदमेंदियाहै.उमीदहैकिकुंआबननेसेगांवमेंपीनेकेपानीकीव्यवस्थाहोजाएगी.

IndoreNews:रेपकेमामलेमेंआरोपीकांग्रेसविधायककाबेटाफर्जीदस्तावेजकेसमेंगिरफ्तार,मीडियासेकियायहदावा

दंगाप्रभावितखरगोनमें3मईकेबादहोसकतीहैंविश्वविद्यालयकीपरीक्षाएं,परीक्षानियंत्रकनेरिजल्टपरकहीयहबात

Previous post अन्ना जानवर ने महिला पर किया ह
Next post साकीपुर पंचायत भवन ध्वस्तीकरण