जसौरखेड़ी हत्याकांड में छह लोगों पर केस दर्ज, वजह अभी साफ नहीं

जागरणसंवाददाता,बहादुरगढ़:जसौरखेड़ीगांवमेंरविवारकीरातएकयुवककीगोलियांमारकरहत्याकिएजानेऔरदूसरेकोजख्मीकरनेकेमामलेमेंआसौदाथानापुलिसनेछहलोगोंपरकेसदर्जकियाहै।सभीगांवकेहीरहनेवालेहैं।किसवजहकोलेकरयहहत्याकीगई।यहअभीतकस्पष्टनहींहोपायाहै।पुलिसहमलावरोंकीतलाशमेंजुटीहै।इसबीचसोमवारकोसिविलअस्पतालमेंपोस्टमार्टमहुआ।उसकेबादशववारिसोंकेहवालेकियागया।

जसौरखेड़ीगांवमेंरविवारकीरातदोकुछयुवकोंकेबीचविवादकेबादकर्मबीरपुत्रआजादकोगोलीमारदीगईथी।घटनास्थलपरहीमौजूदइसीगांवकेमोहितकोभीगोलीलगीथी।अस्पतालपहुंचनेसेपहलेकर्मबीरनेदमतोड़दियाथा।जबकिघायलमोहितकोरोहतकपीजीआइमेंदाखिलकरायागया।गांवकेहीरहनेवालेगगनदीपकेघरमेंयहवारदातहुईथी।पुलिसनेजसौरखेड़ीकेरहनेवालेअमितवअन्यपांचकेखिलाफमामलादर्जकियाहै।---वजहअभीसाफनहींकिसकारणकोलेकरकर्मबीरकीहत्याकीगई,यहअभीसाफनहींहोपायाहै।बतायाजारहाहैकिपहलेसेदोनोंपक्षोंकेबीचकोईविवादनहींथा।गगनदीपकेघरमेंपार्टीचलरहीथी।इसीदौरानझगड़ाहुआ।इसमेंयहहत्याकीगई।नामजदहमलावरकेपासलाइसेंसीपिस्तौलभीहै।ऐसेमेंगोलीउसीसेचलीयादूसराहथियारइस्तेमालहुआ,इसपरखुलासाअभियुक्तकीगिरफ्तारीकेबादहीहोगा।यदिपहलेसेकोईरंजिशथीतोउसपरभीजानकारीगिरफ्तारीकेबादहीमिलेगी।---कईदेरमेंनिकलपाईशरीरसेगोलियांपुलिसकेमुताबिककर्मबीरकोचारगोलियांमारीगई।एकगोलीतोआरपारनिकलगई।बाकीतीनगोलीशरीरकेअंदरहीधंसगई।एकगोलीबायींतरफगर्दनकेबादलगनेकेबाददूसरीसाइडमेंकंधेकेपासजाधंसी।जांघमेंलगीगोलीभीबड़ीमुश्किलसेमिली।एकगोलीकमरकेपासलगकरदूसरीसाइडमेंजाधंसी।एक्सरेमेंकईदेरमेंगोलियोंकापतालगा।बादमेंउन्हेंनिकालनेमेंभीसमयलगा।इसीकारणपोस्टमार्टममेंदेरीहुई।इधर,शवलेनेपरिजनोंकेसाथसिविलअस्पतालमेंआएग्रामीणोंमेंदेरीहोतेदेखएकबारतोगुस्सापनपगयाथा।मगरपुलिसनेउन्हेंशांतकिया।सुबहआएपरिजनोंकोदोपहरबाद3बजेशवमिलपाया।उधर,बतायागयाहैकिमृतककर्मबीरअविवाहितथाऔरखेतीबाड़ीकरताथा।----घटनाओंसेइलाकेमेंदहशतआसौदाथानाक्षेत्रकेअंतर्गतदोदिनोंकेअंदरदोगांवोंमेंगोलियांचलनेकीवारदातहुईहै।शनिवारकोतोआसौदाटोडराणमेंरंजिशनघरकेबाहरबैठेलोगोंपरहमलाकियागया।इसमेंदोलोगजख्मीहुएथे।जबकिरविवारकोजसौरखेड़ीमेंभीदोलोगोंकोगोलीमारीगई।इसमेंएककीमौतहोगई।इससेइलाकेमेंदहशतकामाहौलहै।सुरक्षाकेलिएपुलिसतैनातहै।---मृतककेभाईकेब्यानपरअभियोगदर्जकरलियागयाहै।इसमेंकईलोगनामजदहैं।सभीकीतलाशकीजारहीहै।जल्दहीउन्हेंगिरफ्तारकरलियाजाएगा।

--बीरसिंह,एसएचओ,आसौदाथाना

Previous post नदी में बही महिला का दूसरे दिन
Next post कल्याणकारी योजनाओं से आई खुशहा