कानपुर के रामनगर गांव में 180 युवाओं ने बनाया अपना कोविड केयर फंड; अब राहत की दवा बांट रहे, 1 माह में 20 की हुई थी मौत

कोरोनासे20अपनोंकोखोनेवालेकानपुरकेरामनगरगांवमेंअबजिंदगीरफ्तारपकड़रहीहै।स्वास्थ्यविभागसेसहयोगनमिलनेकेबादगांवके180युवाओंनेएकटोलीबनाईगईहै।गांवकाकोविडकेयरफंडबनाया।इसफंडमेंअबतकएकलाखसेअधिकरुपएइकट्ठाहोचुकेहैं।युवाओंकीटीमअबजरुरतमंदोंकोऑक्सीजनसिलेंडर,ऑक्सीमीटरसेलेकरकोरोनाकीसभीदवाएंघर-घरपहुंचानेकाकामकररहीहै।इसकारिजल्टयहरहाकि7मईकेबादसेकोरोनासेगांवमेंहोनेवालीमौतोंमेंलगामलगीहै।यानीतबसेगांवमेंबीमारीसेकिसीकीजाननहींगईहै।

21अप्रैलकोगांवमेंहुईथीपहलीमौत

कानपुरशहरकीसीमासेजुड़ेरामनगरगांवमेंपंचायतचुनावकेमतदानशुरूहोनेकेबादकोरोनाकासंक्रमणफैला।गांवकीआबादीकरीब5हजारहै।15अप्रैलकेबादगांवकाऐसाकोईघरनहींथा,जहांकोरोनाकेसंदिग्धलक्षणोंवालेमरीजनहींथे।लेकिनबीमारीकीगंभीरताकोगांववालेतबसमझपाएजबझांसीसेपंचायतचुनावमेंवोटडालनेगोविंदत्रिपाठी(28)नामकायुवकगांवआया।उसेतेजबुखारऔरखांसीनेजकड़लिया।जांचकराईतोकोरोनानिकला।हैलटअस्पतालमेंभर्तीकरायागया।21अप्रैलकोमौतहोगई।यहगांवमेंकोरोनासेपहलीमौतथी।

इसीगांवमेंरहनेवालेरजनीकांतकीमांरागिनी(63)15अप्रैलकोवोटकरकेआईतोतबीयतखराबहुई।तेजबुखारऔरसांसलेनेमेंपरेशानीहोनेपरउनकोहैलटअस्पतालमेंभर्तीकरायागया,लेकिन23अप्रैलकोदमतोड़दिया।इसीगांवकीगीतात्रिपाठी(60)सहित20लोगअस्पतालयाघरमेंदमतोड़चुकेहैं।

180युवाग्रुपसेजुड़े,25नेतीमारदारीशुरूकी

एककेबादएकमौतसेपूरागांवमातममेंडूबगया।लेकिनयुवाओंनेहारनहींमानी।सोशलमीडियापरगांवकेयुवाओंकोजोड़करसोशलमीडियापरएकग्रुपबनायागया।जिसमेंअबतक180लोगजुड़चुकेहैं।गांवकाकोविडकेयरफंडबनायागया।जिसमेंलोगोंनेसहयोगकिया।इसकेबादगांवकेपासस्थितएकवेल्डिंगकीदुकानसे2ऑक्सीजनसिलेंडरजुटाए।4ऑक्सीमीटरऔरकोरोनासंक्रमणमेंदीजानेवालीदवालाईगई।इसकेबादसावधानीकेसाथलगातार25युवाओंकीदूसरीटीमनेघर-घरजाकरतीमारदारीशुरूकी।जरूरतपड़नेपरडॉक्टरसेसलाहलेकरदवाएंदेनेकाकामकिया।महीनेभरकेअंदरयहजागरूकताकामआई।आजरामनगरकेहालाततेजीसेसुधररहेहैं।लगभगआधीजंगजीतचुकेयुवाओंकेहौसलेबढ़ेहुएहैं

आबादी5हजार,40लोगोंकासैंपललिया

अप्रैलमाहमेंइसगांवमें14लोगोंकीमौतहुईथी।जबकि25लोगअलग-अलगअस्पतालोंमेंकोरोनासंक्रमणसेजूझरहेथे।इसबीचस्वास्थ्यविभागसेलेकरजिलाप्रशासनतकग्रामीणोंनेइलाजकेलिएकईबारगुहारलगाई,लेकिनउसकाकोईनतीजासामनेनहींआया।स्वास्थ्यविभागकीटीमखानापूर्तिकरतेहुएसिर्फदोबारआकर20-20लोगोंकासैंपललेगई।लेकिननकोरोनाकिटमेंमिलनेवालीदवाईवितरितकीगईऔरनहीकिसीऔरतरहसेस्वास्थ्यविभागसहयोगमिला।

बीमारलोगोंकोकरायाक्वारैंटाइन,समय-समयपरचेककिएऑक्सीजनलेवल

स्वास्थ्यविभागकेउदासीनरवैयाकेबादगांववालेखुदहीसक्रियहुए।गांवमेंजोगंभीरबीमारथेउनकोअस्पतालमेंभर्तीकराया।बाकीकोघरोंमेंहीक्वारैंटाइनकरइलाजशुरूकरायागया।मरीजोंकेऑक्सीजनलेवलकमहोनेपरघरोंमेंऑक्सीजनसिलेंडरतकउपलब्धकरायागया।ऑक्सीमीटरसेमरीजोंकीरेगुलरऑक्सीजनलेवलचेककियागया।अबहालातसुधरनेलगेहैं।अबगांवमेंकोईभीगंभीरमरीजनहींहै।

Previous post रोड पर सूख रही मक्का पर फिसली
Next post चोरी की बाइक सहित शातिर गिरफ्त