कतर के पहले चुनावों में महिला प्रत्याशी शामिल

दोहा,01अक्टूबर।30सीटोंपरचुनावकेलिए284उम्मीदवारअपनीकिस्मतआजमारहेहैं,जिनमेंसेसिर्फ28महिलाएंहैं.संसदीयपरिषदमें15सीटेंऔरहैंजिनपरदेशकेअमीरलोगोंकोनियुक्तकरेंगे.समीक्षकोंकाकहनाहैकिपरिषदमेंलैंगिकअसंतुलनकोठीककरनेकेलिएअमीरइनसीटोंपरभीकईमहिलाओंकोनियुक्तकरसकतेहैं.

इंटरनेशनलक्राइसिसग्रुपमेंसीनियरगल्फऐनालिस्टइल्हामफखरोकहतेहैं,"यहएकबहुतहीसकारात्मककदमहैकिमहिलाएंभीइसप्रक्रियाकाहिस्साहैं.हालांकि,मुझेलगताहैकिहमेंअपनीअपेक्षाओंकोथोड़ासीमितकरनाचाहिएक्योंकिसिर्फ28महिलाएंचुनावलड़रहीहैं.यहकोईआश्चर्यवालीबातभीनहींहै."

नागरिकतामेंभेदभाव

इनमहिलाप्रत्याशियोंमेंसेएकलीनाअल-दफानेबतायाकिअगरवोजीतगईंतोउनकीप्राथमिकताओंमेंमहिलाओंकीशिक्षाकोप्रोत्साहनदेना,महिलाशिक्षकोंकोसमर्थनदेनाऔरकतरीमहिलाओंकेबच्चोंकीनागरिकताकामुद्दाशामिलहोगा.

अभीतककतरीनागरिकताबच्चोंकोसिर्फउनकेपितासेमिलसकतीहै.अगरकोईकतरीमहिलाकिसीऐसेपुरुषसेशादीकरलेतीहैजोकतरकानागरिकनहींहैतोउनकेबच्चोंकोकतरकीनागरिकतानहींमिलपाएगी.इससेइसतरहकेबच्चेदेशमेंसरकारकीतरफसेदिएजानेवालेअनुदान,जमीनऔरदूसरीसरकारीमददसेमहरूमजातेहैं.

दफाकहतीहैं,"मेरेलिएसबसेजरूरीमुद्दाहैकतरीमहिलाओंकेबच्चोंकीनागरिकता.यहमुद्दामेरेदिलसेजुड़ाहुआहैऔरमैंइसेसबसेजरूरीमानतीहूं."दफाएकशिक्षाअधिकारीहैंऔरवोकतरके17वेंजिलेसेचुनावलड़रहीहैं.उनकेसामनेचुनावमेंदोमहिलाएंऔरसातपुरुषखड़ेहैं.

वोकहतीहैंकिलिंगसेज्यादायोग्यताजरूरीहै.उन्होंनेबताया,"मैंइसेपुरुषोंऔरअपनेबीचमेंप्रतियोगिताकेरूपमेंनहींदेखतीक्योंकिमैंपुरुषोंकोविधायिकाकेकार्यमेंअनुपूरकमानतीहूं.औरहमकाबिलियतकेबारेमेंबातकररहेहैं,लिंगकेबारेमेंनहीं."

"अभिभावकपद"कोलेकरविवाद

कतरमेंमहिलाओंकाप्रतिनिधित्वपड़ोसीदेशसऊदीअरबऔरसंयुक्तअरबअमीरातसेज्यादाहै.कतरकीस्वास्थ्यमंत्रीएकमहिलाहैंऔरविदेशमंत्रालयकीप्रवक्ताभीएकमहिलाहैं.

विश्वकपआयोजनसमितिमेंभीमहिलाएंअहमभूमिकाओंमेंहैं.परोपकारीगतिविधियों,कला,चिकित्सा,कानूनऔरव्यापारजैसेक्षेत्रोंमेंभीमहिलाएंसक्रियहैं.लेकिनमार्चमेंह्यूमनराइट्सवॉच(एचआरडब्ल्यू)नेकतरपरमहिलाओंकेजीवनपर"अभिभावकपद"केअस्पष्टनियमोंकेतहतअंकुशलगानेकाआरोपलगायाथा.इसकानूनकेतहतवयस्कमहिलाओंकोभीरोजकेकामोंकेलिएभीकिसीपुरुषकीस्वीकृतिकीजरूरतहोतीहै.

अभिभावकमुख्यरूपसेपुरुषरिश्तेदारहीहोतेहैं,जैसेपिता,भाईऔरदूसरेपुरुष.कतरकासंविधान"सभीनागरिकोंकोबराबरअवसर"देनेकीबातकरताहै.लेकिनएचआरडब्ल्यूकाकहनाहैकिकाफीठोसप्रगतिकेबावजूद,महिलाओं"आजभीजीवनकेलगभगहरक्षेत्रमेंगहरेभेदभावकासामनाकररहीहैं."

एचआरडब्ल्यूनेपूर्वमेंयहमानाहैकिकतरीमहिलाओंने"अवरोधोंकोतोड़ाहैऔरमहत्वपूर्णतरक्कीहासिलकीहै"औरपुरुषस्नातकोंसेमहिलास्नातकोंकीसंख्याज्यादाहोनाऔरप्रतिव्यक्तिमहिलाडॉक्टरोंऔरवकीलोंकीसंख्याकाकाफीअधिकहोनाइसबातकासबूतहै.

Previous post हाईटेंशन लाइन की चपेट में आकर
Next post Dare : व्‍यापारी ने रास्‍ते से