लाकडाउन में घर लौटे तो गांव में ही बस गया परिवार

संवादसूत्र,कुंडा:लाकडाउनकेचलतेशहरोंमेंकामकामकाजजबठपहोगयातोउनलोगोंकोभीअपनागांवयादआनेलगा,जोकईवर्षोंसेबेगानेहोगएथे।उन्हेंवहीगांवअबताहरणहारदिखनेलगा,जहांकीमिट्टीसेउठकरवहपरदेसगएथे।ऐसेमेंलाकडाउनकेदौरानजबवहपूरेपरिवारकेसाथघरपहुंचेतोउन्होंनेअपनाआशियानावकारोबारयहींपरहीफैलालिया।फिरतोगांवमेंऐसामनरमाकियहींकेहोकररहगए।

विकासखंडकुंडाकेमौलीगांवनिवासीराजूश्रीवास्तवपुत्रस्व.छोटेलालश्रीवास्तवमुंबईकेधारावीइलाकेमेंअपनेभाईरोशन,राजनवमांसवितादेवीसमेतपूरेपरिवारकेसाथरहतेथे।इसमेंराजूवरोशनकीशादीहोचुकीथी।कुलमिलाकरपरिवारके13सदस्यवहींपरजीवनयापनकररहेथे।जहांपरपूरापरिवारफिल्मीसितारोंकोकपड़ेवविद्यालयमेंपढ़नेवालेबच्चोंकेड्रेसकेसिलाईकाकामकरतेथे।22मार्च2020कोजबपूरेदेशमेंलाकडाउनलगातोकारोबारपरतालालगगया।ऐसेमेंअबपरिवारकेसामनेजीविकोपार्जनकीसमस्याखड़ीहोनेलगी।देखतेहीदेखतेदोमाहकासमयबीतगया।ऐसेमेंराजूनेबीते16मईकोएकदोस्तकेसहयोगसेगांवलौटनेकेलिएएकट्रककोबुककिया।ट्रकचालकनेउन्हेंघरपहुंचानेकेलिए85हजाररूपयेकीमांगकी।राजूपूरेपरिवारकेसाथघरलौटनेकेलिएरकमदेनेकोतैयारहोगया।आखिरकारउसीदिनपूरापरिवारट्रकपरबैठकरकरघरकेलिएरवानाहोगया।पचासघंटेकासफरतयकरनेकेबादराजूअपनेपूरेपरिवारकेसाथघरमौलीपहुंचा।अबराजूकेसामनेपूरेपरिवारकाखर्चउठानेकासंकटआगया।ऐसेमेंराजूनेकुंडाकरेटीरोडपरमहुंआतरकेपासथोडीसेजमीनलीऔरउसपरएकमकानकानिर्माणकराकरउसीमेंपरचूनवसिलाईकाकामशुरूकरदिया।धीरे-धीरेपूरापरिवारअबउसीकेसहयोगमेंखड़ाहोगया।देखतेहीदेखतेराजूनेअपनाकारोबारफैलादिया।जागरणटीमसेमुलाकातकेदौरानराजूनेबतायाकिमुंबईसेआनेकेबादअपनेगांवमेंहीअपनाकारोबारफैलाचुकाहै।अपनोंकाइतनाप्यारऔरसहयोगमिलाकिअबफिरसेमुंबईजाकरबसनेकीइच्छानहींरही।यहींपरबहुतकुछकरनेकोहै,अपनागांवअपनाहीहोताहै।

Previous post मेधावी विद्यार्थियों को पुरस्क
Next post लीड::: तेज हवा के बीच भड़की आग