मैरवा में 17 झोपड़िया जलकर राख, 5 बकरियां जली

संसू,मैरवा(सिवान)थानाक्षेत्रकेगोपालचकमेंबुधवारकोअगलगीमें17झोपड़ियांजलकरराखहोगई।वहींएकहीपरिवारकी5बकरियांजलकरमरगई।आगबुझानेकेलिएचारअग्निशामककेसाथग्रामीणलगातार3घंटेतकप्रयासकरतेरहे।सूचनामिलतेहीअंचलाधिकारीअरविदकुमारवहांपहुंचगए।उन्हेंआगबुझानेवालोंमेंशामिलदेखागया।इसअगलगीमेंलाखोंरुपयेकीक्षतिकाआकलनकियाजारहाहै।अंचलाधिकारीअरविदकुमारनेकहाकिप्रत्येकपीड़ितपरिवारकोआपदाप्रबंधनमदसेशीघ्रसहायताराशिउपलब्धकराईजाएगी।जिनपरिवारकीझोपड़ियांजलगईहैंउन्हेंप्लास्टिकमुहैयाकरादियागया।इससंदर्भमेंबतातेहैंकिआगचूल्हेसेनिकलीचिगारीसेलगीऔरदेखतेहीदेखतेतेजहवाकेकारणआसपासफैलगई।इसकीसूचनामैरवाथानाकोदीगई।थानासेछोटाअग्निशामकभेजागया।ग्रामीणोंकेसहयोगसेआगबुझानेकीकोशिशशुरूकीगई,लेकिनआगहवाकीरफ्तारकेसाथफैलतीचलीगई।आगकोबेकाबूहोतादेखतीनऔरअग्निशामकबुलालियागया।करीब3घंटेकेप्रयासकेबादआगबुझाएगया।तबतक17झोपड़ियाजलकरराखहोगई।बतातेहैंकिमदनसाहनी,सतनसाहनी,हरेंद्रसाहनी,लक्ष्मणसाहनी,विक्रमसाहनी,हीरालालसाहनी,रामप्रवेशसाहनीसमेत17परिवारकीझोपड़ियांऔरउसमेंरखेअनाज,कपड़े,आभूषणजलकरराखहोगए।सतनसाहनीकीपांचबकरियांभीजलकरमरगई।आगतोबुझादियागया,लेकिनउसमोहल्लेमेंआगलगीपीड़ितपरिवारमेंकोहराममचगया।महिलाओंकोरो-रोकरबुराहालथा।

Previous post लोहारा अपर पंचायत में सड़कों की
Next post शहीद-ए-आजम के जीवन से प्रेरणा