मधुबनी सदर अस्पताल में ओपीडी सेवा शुरू, सर्दी, बुखार जैसे मौसमी रोग के मरीजों की संख्या बढ़ी

मधुबनी,जासं।कोरोनाकीदूसरीलहरकमहोनेकेबादसरकारीअस्पतालोंमेंओपीडीसेवाशुरूहोगईहै।ओपीडीमेंमरीजोंकीभीड़देखीजारहीहै।वर्तमानसमयमेंओपीडीमेंसर्दी,बुखारजैसेमौसमीरोगकेमरीजोंकीसंख्याअधिकदेखीजारहीहै।गुरुवारकोसदरअस्पतालकाओपीडीशुरूहोनेकेसाथहीइसकेमुख्यद्वारपरबाइककाबेतरतीबठहरावनजरआनेलगा।जिससेइलाजकोआनेवालेरोगियोंकोआवाजाहीमेंपरेशानीहोतीरही।ओपीडीकेगेटपरतैनातसुरक्षाकर्मीइनबाइकोंकोहटानेसेकतरातेरहे।क्योंकियहांलगीअधिकांशबाइकओपीडीआनेवालेचिकित्सकोंवकर्मियोंकीथी।वहीं,इसीबीचएकरोगीकेस्वजनगणेशयादवकोयहांबाइकसेआनेपरयहांतैनातसुरक्षाकर्मीदूरसेहीबाइकहटानेकीनसीहतदेनेलगे।बुधवारकोओपीडीकासंचालनचलरहाथा।

चिकित्सकअपने-अपनेकक्षमेंरोगियोंकोदेखरहेथे।दवाकाउंटरपररोगियोंकीभीड़लगीथी।एकरोगीनिशाखातूननेबतायाकिसर्दीखांसीकेइलाजकोपहुंचेहैं।चिकित्सकनेकईदवालिखीहै।कुछदवासदरअस्पतालसेमिलाहै।कुछदवाबाहरसेभीखरीदनाहोगा।दूसरेरोगीमहेंद्रप्रसादनेबतायाकिबुखारसेपीड़ितबच्चेकाइलाजकरानेआएहैं।चिकित्सकद्वाराढंगसेइलाजनहींकरनेसेपरेशानीहोरहीहै।एकरोगीकेस्वजनममताकुमारीनेबतायाकिओपीडीमेंशौचालयव्यवस्थादुरुस्तनहींहोनेसेपरेशानीहोरहीहै।ओपीडीकेसामनेजलजमावसेइलाजकोआनेवालोकोपरेशानीहोतीहै।इधर,सिविलसर्जनडॉ.सुनीलकुमारझानेबतायाकिओपीडीकेसामनेबाइककेठहरावकीवस्तुस्थितिसेअवगतहोकरसमुचितकार्रवाईकीजाएगी।बाइकलगानेकेप्रतिउदासीनसुरक्षागार्डसेस्पष्टीकरणपूछाजाएगा।

Previous post विकास के मुद्दों पर की चर्चा..
Next post देश में महिला को नहीं मिल रहा