मेरठ: हिंदू महिला की अर्थी को कंधा देने को परिजन नहीं आए आगे, मुस्लिमों ने करवाया अंतिम संस्कार

कोरोनाकायेकैसाखौफहैकिअबलोगकिसीकेअंतिमसंस्कारमेंशामिलहोनेसेभीकतरानेलगेहैं.परिवारकेसदस्यभीआखिरीसमयपरमुंहफेरलेतेहैंऔरशवकोकंधादेनेकेलिएकोईआगेनहींआता.जबपरिवारअपनीजिम्मेदारीनिभानेसेपीछेहटताहैतोसमाजकेदूसरेलोगनासिर्फमददकोआगेआतेहैंबल्किपूरेरीति-रिवाजसेअंतिमसंस्कारभीकरवादेतेहैं.ताजामामलामेरठकाहैजहांपरकुछमुस्लिमयुवकोंनेएकहिंदूमहिलाकाअंतिमसंस्कारकरवाया.

मुस्लिमोंनेकियाहिंदूमहिलाकाअंतिमसंस्कार

हैरानीकीबातयेरहीकिघंटोंतकपरिवारकाइंतजारहुआ,उम्मीदजताईगईकिकोईआएगाऔरकंधादियाजाएगा.लेकिनकोरोनाकाऐसाडरकिकोईभीआगेनहींआयाऔरफिरमुस्लिमयुवकोंनेही इसपरंपराकोपूराकिया.येघटनाहापुड़कीहैजहांपरसुषमाअग्रवालनामकीमहिलारहतीथीं.वेपिछलेकुछदिनोंसेठीकमहसूसनहींकररहीथींऔरएकदिनउनकीतबीयतज्यादाबिगड़ीऔरउनकीमौतहोगई.मौतकेबादपतिवाराणसीसेअगरेदिनमेरठपहुंचगए,लेकिनबाकीरिश्तेदारोंकीसिर्फराहदेखीगई,आयाकोईभीनहीं.लगातारहुईदेरीकेबादपूर्वपार्षदऔरबीजेपीअल्पसंख्यकमोर्चाकेमहानगरअध्यक्षतहसीनअंसारीअपनेकुछसाथियोंकेसाथवहांपहुंचगए.मुस्लिमसमाजसेहीआसपासकेकुछलोगभीआगेआए.फिरअर्थीकोवहींकंधादेकरपैदलसूरजकुंडश्मशानघाटतकलेगए.इसदौरानहिन्दूरिवाजकीतरहहीशवयात्रामेंवे‘रामनामसत्यहै’भीबोलतेगए.

टूटगईंधर्मकीतमामबंदिशें

ऐसेभाईचारेवालीतस्वीरसिर्फमेरठसेहीसामनेनहींआईहै,कोरोनाकीइससुनामीनेधर्मकीतमामबंदिशोंकोतोड़दियाहैऔरअबहरकोईजरूरतपड़नेपरएकदूसरेकीमददकोआगेआरहाहै.कईजगहोंपरअगरगुरुद्वारेसभीकोखानाखिलारहेहैंतोकईजगहपरअबमंदिरोंकोकोविडसेंटरमेंबदलाजारहाहै.सभीकीनजरोंमेंइंसानियतकोहीसबसेबड़ाधर्मबतायाजारहाहैऔरबसमददकरनेकीकोशिशहोरहीहै.मेरठकीयेघटनाभीइसीनजरिएसेदेखीजानीचाहिए.

वैसेलोगइससमयअंतिमसंस्कारकेवक्तहीमददकोआगेनहींआरहेहैं,बल्किकईऐसेभीहैंजोक्वारंटीनहोचुकेमरीजोंकीभीसुधरहेहैं.उन्हेंमुफ्तमेंफूडपैकेटभिजवायाजारहाहै,जरूरतपड़नेपरघरपरहीदवाइयांभिजवाईजारहीहैं.कईतरहकेहेल्पलाइननंबरभीचलाएजारहेहैं.मददकरनेकातरीकाअलगहै,लेकिनसभीएकसमानसिर्फसेवाकरनेपरजोरदेरहेहैंऔरइसकोरोनालड़ाईकोआसानबनानेकीकोशिशकररहेहैं.

Previous post महिलाओं को सशक्त करने के होंगे
Next post गुस्साए किसानों ने पंचायत सचिव