महिला समूह लगाएगा आलू चिप्स का प्लांट

राजीवशर्मा,फीरोजाबाद:सरकारेंतमामदावोंकेबादजोनकरसकींवहकाममहिलाएंअपनेआसमानीहौसलेसेकरनेजारहीहै।जिलेकीइनमहिलाकिसानोंनेएककंपनीबनालीहै।अबयहकंपनीआलूचिप्सऔरभुजियाकाप्लांटलगानेजारहीहै।उनकेइसकामसेजिलेकेआलूकोनईपहचानऔरअच्छेदाममिलनेकीउम्मीदजगीहै।

फीरोजाबादकीपहचानआलूउत्पादकक्षेत्रमेंहोतीहै।मगर,खपतकाइंतजामनहोनेसेकईबारकिसानोंकोआलूफेंकनापड़ताहै।इससेनिजातकोजिलेमेंआलूचिप्सकीफैक्ट्रीयाप्लांटलगानेकीमांगलंबेसमयसेउठरहीहै।चुनावोंमेंयहमुद्दाबनतारहाहै।दिग्गजनेताइसेपूराकरनेकावादाभीकरतेरहेहैं।सांसदडा.चंद्रसेनजादौननेसंसदमेंभीयेमुद्दाउठायाथा।मगर,धरातलपरकुछनहींहुआ।

अबशिकोहाबादकीमहिलाकिसानोंकेसमूहबनाकरआलूचिप्सऔरभुजियाप्लांटलगानेकाचैलेंजलियाहै।सुहागनगरीमहिलाप्रेरणाप्रोड्यूसरकंपनीलिमिटेडकागठनकियागयाहै।कंपनीएक्टकेतहतरजिस्ट्रेशनभीहोगयाहै।इससे300महिलाएंजुड़चुकीहैं।अबकार्ययोजनाबनानेकेलिए24मईकोविकासभवनसभागारमेंसीडीओचर्चितगौड़कीअध्यक्षतामेंबैठकबुलाईगईहै।

ऐसेहुआकंपनीकागठन:

सीडीओचर्चितगौड़नेबतायाकिराष्ट्रीयग्रामीणआजीविकामिशन(एनआरएलएम)केतहतगांव-गांवमहिलाओंकेस्वयंसहायतासमूहबनाएगएहैं।येकृषिकार्यकेसाथसाथआचार,मुरब्बा,मसाले,चूड़ीडेकोरेशनकाकामकरतेहैं।कृषिऔरउद्यानविभागहरब्लाकमेंकिसानोंकीकंपनियांबनवारहाहै।महिलाओंकोआगेबढ़ानेकेलिएइनदोयोजनाओंकोमिलाकरमहिलाओंकीकंपनीकागठनकियागया।एकहजारसदस्यबनानेकालक्ष्यहै।छहसौसदस्यबनतेहीकंपनीअपनाकामचालूकरदेगी।

प्रदेशमेंकेवलफीरोजाबादकाआलूहैकेंद्रीययोजनामेंशामिल:

जिलाउद्यानअधिकारीविनयकुमारयादवनेबतायाकिफीरोजाबादकाआलूप्रधानमंत्रीसूक्ष्म,खाद्यउद्योगउन्नयनयोजनामेंशामिलहै।सबसेज्यादाआलूआगरामेंपैदाहोताहै,लेकिनआगरासेइसयोजनामेंपेठाकोशामिलकियाहै।आलूकीपैदावारमेंफीरोजाबादप्रदेशमेंदूसरेस्थानपरहै।

एकहजाररुपयेकाहैशेयर:

एनआरएलएमकेउपायुक्तराजेशकुमारकुरीलनेबतायाकिकंपनीमेंसभीमहिलाकिसानोंकीहिस्सेदारीबराबरहोगी।एकहजाररुपयेकाएकशेयरहै।इसकेजरिए10लाखरुपयेकाफंडकंपनीकेपासहोगा।10लाखरुपयेकीमददसरकारदेगी।इसीसेकामशुरूकरायाजाएगा।

ऐसेमुनाफाकमाएगीकंपनी:

इसकंपनीकेजरिएमहिलाकिसानबिचौलियोंकीभूमिकाखत्मकरेंगी।सीधेकिसानसेआलूखरीदकरउनसेचिप्सएवंअन्यउत्पादबनाएजाएंगे।इससेपरिवहनकाखर्चाभीबचेगा।कंपनीकीडायरेक्टरसाधनादेवीऔरमधुयादवनेबतायाकिवेकंपनीचालूहोनेकोलेकरउत्साहितहैं।कईमहिलाएंउनकेसाथजुड़नेकोतैयारहैं।

Previous post पांच लाख नकदी के लिए बहू को घर
Next post चमोली के आपदा प्रभावित क्षेत्र