मूलभूत सुविधाओं के अभाव कफल्टा गांव से पलायन

दीपकसिंहबोहरा,चम्पावत

आजादीकेसत्तरसालबादभीआजसीमांतकेइलाकेमेंमूलभूतसुविधाओंकेअभावचलतेगांवोंसेलोगपलायनकोमजबूरहै।जिलामुख्यालयसेलगभग25किमीदूरदुर्गमक्षेत्रमेंस्थितमल्लीकफल्टाग्रामसभामेंआजभीसुविधाओंकेनामपरकेवलनेताओंकाआश्वासनपहुंचाहै।यहांकेग्रामीणआजभीसड़क,पानी,शिक्षा,चिकित्साजैसीमूलभूतसुविधाओंकेलिएतरसरहेहैं।सुविधाओंकेअभावकेचलतेकईलोगगांवसेपलायनकरचुकेहैं।जिसकारणकाश्तकारोंकीकईहेक्टेयरभूमिबंजरपड़ीहै।

मल्लीकफल्टामेंपानीकीसर्वाधिकसमस्याहै,किसी-किसीगांवमेंतोग्रामीणोंकाआधादिनपानीलानेमेंहीबीतजाताहै।गांवऔरखेतवीरानवबंजरहोरहेंहैं।कुछलोगगांवमेंरहभीरहेहैंतोइसवजहसेकिउनकेघरकाकोईएकसदस्यबाहरशहरोंमेंनौकरीकरताहै।इसमेंकोईशकनहींहैकियदिबाहरशहरमेंरहनेकीव्यवस्थाहोजाएतोशायदवेभीयहांसेघरवभूमिकोछोड़करचलेजाएंगे।मल्लीकफल्टाग्रामसभामेंकंयूड़ा,गौताड़,रूसानी,भोगनीआदिगांवआतेहैं।जहांकेलोगआजभीमूलभूतसुविधाओंकेलिएसरकारकामुंहताकरहेहैं।हालहीमेंलगेहैंबिजलीकेखंभे

मल्लीकफल्टाग्रामसभाकेकईगांवोंमेंअभीभीलोगोंकोबिजलीकोतरसरहेहैं।अबजाकरगांवोंबिजलीकेखंभेलगेहैंलेकिनअभीभीतकगांवमेंलाइटनहींपहुंचीहै।देरसेशुरूहोतीहैबच्चोंकीशिक्षा

ग्रामसभाकेरूसानीगांवमेंबच्चोंकीशिक्षाकाफीदेरसेशुरूहोपातीहै।यहांशिक्षाकेलिएबच्चोंकोरूसानीसेकन्यूड़ागांवडेढ़किमीकासफरतयकरजानापड़ताहै।छोटेबच्चोंकोलानेलेजानेकीसमस्याकेचलतेमाता-पिताबच्चोंकोदेरसेविद्यालयभेजतेहैं।

मुख्यसड़कमेंपहुंचेकेलिएपांचकिमीकापैदलसफर

मल्लीकफल्टाचम्पावत-तामलीमोटरमार्गसेलगभगपांचकिमीदूरस्थितहै।ग्रामीणकईबारगांवमेंसड़ककीमांगकरचुकेहैं।गांवमेंसड़केलिएचतरगोठसेरूहियारोडकासर्वेहुआथाजिसपरमार्गबनानेकाकार्यभीहुआलेकिनविभागनेआपत्तियांलगादीऔरकार्यरूकगया।आजभीकोईपेयजलयोजनानहीं

इसक्षेत्रमेंपानीएकसबसेबड़ीसमस्याबनाहुआहै।ग्रामरूसालीकेग्रामीणोंकोपानीकेलिएआधाकिमीकापैदलसफरतयकरनापड़ताहै।जलस्रोतवगधेरोंसेपानीलानेमेंग्रामीणोंकाआधादिनबीतजाताहै।स्थितियहहैकियदिघरकेबड़ेयदिबीमारहोजाएतोउन्हेंमजबूरीमेंबच्चोंसेपानीमंगानापड़ताहै।वर्षापरनिर्भरहैंकाश्तकार

यहांकेसभाकाश्तकारपानीकीकमीकेचलतेकृषिकार्यकेलिएवर्षाजलपरहीनिर्भरहैं।काश्तकारोंकीफसलकभीकमवर्षातोकभीओलावृष्टिसेखराबहोजातीहै।यदिसबकुछठीकरहातोजंगलीजानवरफसलोंकोसुरक्षितनहींरहनेदेते।15सेअधिकपरिवारकरचुकेहैंपलायन

मल्लीकफल्टाग्रामसभामेंअभीतक15सेअधिकपरिवारअपनीजमीनघरछोड़करपलायनकरचुकेहैं।सुविधाओंकेअभावमेंकईअन्यलोगभीपलायनकीओरबढ़रहेहैं।डोलीमेंहोजातीहैमरीजोंकीमृत्यु

यदिगांवमेंकोईबीमारयागर्भवतीमहिलाहोतोउसेडोलीमेंमुख्यसड़कतकलेकरजानापड़ताहैऔरउसेलेजानेकेलिएपहलेगांवसेचार-छहलोगएकत्रितकरनामुश्किलहोजाताहै।कईलोगोंकीतोडोलीमेंचिकित्सालयलेजातेसमयहीदमतोड़चुकेहैं।क्याकहतेहैंग्रामीण

गांवकेविकासऔरपलायनकोरोकनेकेलिएसड़ककाआनाजरूरीहै।तल्लीकफल्टाग्रामसभाकेसतकुलगांवसेकईपरिवारपलायनकरचुकेथेलेकिनगांवमेंसड़कआनेकेबादवेवापसलौटआए।यहांभीसड़कआनेकेबादलोगजरूरलौटआएंगे।-प्रीतमराम,काश्तकार।हरसालचुनावकेसमयमेंनेतावोटमांगनेकेलिएदिखजातेहैंलेकिनजीतनेकेबादगांवकीसमस्याकीओरदेखतेभीनहीं।हरबारनेताओंनेगांवकीसमस्यादूरकरनेकासिर्फआश्वासनहीदियाहै।-वेनासिंह,ग्रामीण।बारिशनहोनेकेकारणखेतीबर्बादहोरहीहै।पहलेकीअपेक्षाअबउत्पादननाकेबराबरहोताहै।मेरेसामनेसामनेहीयहांसेकईपरिवारपलायनकरचुकेहैं।-डुंगरराम,वृद्ध

Previous post ट्यूबवेल खराब होने से गांव सेग
Next post भगवान विश्वकर्मा मंदिर में हुई