पानी को लेकर मखरा गांव में परेशानी

औरंगाबाद।पानीकोलेकरदाउदनगरप्रखंडकेमखराबिगहापरहाहाकारमचाहै।पानीकोलेकरग्रामीणबेचैनहैं।तमामजलस्त्रोतसूखगएहैंजिसकारणग्रामीणोंकोदूरसेपानीलानामजबूरीहै।तीनसेचारकिमीदूरीसेपानीलानेकोग्रामीणमजबूरहैं।पानीनहींमिलातोखरीदकरपानीपीनालाचारीहोजाएगी।इसगांवमेंपानीकोलेकरस्थितिभयावहहै।गर्मीकीतपिशमेंग्रामीणोंकीबेचैनीबढ़गईहै।वार्डसंख्याचारकेवार्डसदस्यधीरजकुमारनेबतायाकिइसगांवमेंएकसौसेअधिकघरकीआबादीहै।पानीकाएकमात्रसहारादोपुरानासार्वजनिककुआंरहगयाहै।कुआंकीसफाईनहींकरायेजानेसेशामहोते-होतेकुआंसूखजाताहै।गांवमेंपांच-छहकीसंख्यामेंसरकारीचापाकललगेहैं,जोकईदिनोंसेखराबहै।गांवमेंनालीकीसफाईनहींहुईहै।यहांएकऐसामोहल्लाहै,जहांपर20से25घरहैं,उसमोहल्लेसेपानीनिकलनेकीसमस्याबनीरहतीहै।स्कूलकाचापाकलबहुतदिनोंसेखराबपड़ाहै।कहाकिइससमस्याकासमाधानशीघ्रहोनाचाहिए,क्योंकिग्रामीणोंकोपेयजलसुविधाकालाभसहीतरीकेसेमिलसके।ग्रामीणमुन्ना,जेपी,गुड्डू,राजेश,सुबोध,कौशल,सुजीत,विकास,प्रभातनेपेयजलसमस्याकोदूरकरनेकीमांगसंबंधितपदाधिकारियोंसेकीहै।कहाकिअधिकारीहालजाननेभीनहींआरहेहैं।यहांपानीकेलिएमारामारीहोरहीहै।बीडीओअशोकप्रसादनेबतायाकिसातनिश्चययोजनाकेअंतर्गतहरघरनल-जलयोजनाकेतहतगांवमेंशुद्धपेयजलउपलब्धकरायाजाएगा।मैंस्वयंइसयोजनाकोशीघ्रधरातलपरउतारनेकाप्रयासकरूंगा।

Previous post 288 परियोजनाओं पर एक गांव में
Next post घायल शिकारी की मौत के मामले मे