फौजी ने रात में फोन पर कहा, जानू खाना खाकर बात करता हूं; फिर आरा की महिला को मिली कुछ और ही खबर

आरा,जागरणसंवाददाता।भोजपुरजिलाकेएकफौजीकेपरिवारकीहंसती-खेलतीजिंदगीमेंअचानकतूफानआगया।सोमवारकीरातकरीब10बजेपत्नीप्रियंकासेफौजीपतिराजसिंहकीबातहुईथी।फौजीनेकहाथाकिजानूखानाखाकरबातकरताहूं।लेकिन,इसकेबादफोननहींआया।पत्‍नीकोलगाकिपतिशायदखानाखाकरसोगएहों।लेकिनअगलीसुबहबजीफोनकीघंटीनेभ्रमतोड़दिया।अचानकपतिकीमौतकीखबरमिलीऔरसारेसपनेबिखरगए।

जीजा-सालीनेमिलकरयेक्याकरदिया,पटनाकीघटनासेहरकोईहैरान;अबमायकेजानेसेपहलेसोचेंगीमहिलाएं

बतायाजारहाहैकिराजस्थान-दिल्लीरूटपररतनपुरास्टेशनकेसमीपबीकानेर-दिल्लीसुपरफास्टट्रेनसेगिरकरफौजीराजसिंहकीजानचलीगई।फौजीजवानकाशवमंगलवारकीरातनौबजेपैतृकगांवमथवलियापहुंचतेहीमाहौलगमगीनहोगया।एकझलकपानेकेलिएग्रामीणोंकीभीड़उमड़पड़ी।स्वजनोंकेविलापसेमातमपसरगया।सेनाकेअधिकारीवजवानशवकोलेकरमथवलियापहुंचेथे।मृतक27वर्षीयराजसिंहआरामुफस्सिलथानाकेमथवलियागांवनिवासीदेवनारायणसिंहकेपुत्रथे।राजस्थानकेजैसलमेरमें72वींबटालियनमेंकार्यरतथे।

ग्रामीणोंनेनमआंखोंसेअंतिमविदाईदी।पूरेदिनशोकाकुलपरिवारकोढांढसबंधानेकेलिएलोगोंकाघरपरतांतालगारहा।स्वजनोंकारो-रोकरबुराहालथा।मथवलियानिवासरीराजसिंहसाल2016मेंआर्मीमेंबहालहुएथे।16नवंबरकोजैसलमेरसेदिल्लीकिसीअधिकारीकीशादीमेंशिरकतकरनेजारहेथेकिइसबीचरतनपुरा केसमीपबीकानेर-दिल्लीसुपरस्टारएक्सप्रेसट्रेनसेगिरकरमौतहोगईथी।बादमेंइसकीसूचनास्वजनोंकोमिलीथी।

गांवपहुंचाशवतोग्रामीणोंनेशहीदकीतरहदीविदाई

राजस्थानमेंमरेफौजीराजसिंहकाशवआनेकाइंतजारसुबहसेहीगांवकेग्रामीणसमेतसगे-संबंधीकररहेथे।रातकरीबनौबजेशवतिरंगेमेंलिपटामथवलियापहुंचा।इसकेबादएकझलकपानेकोभीड़उमड़पड़ी।लकड़ीकेताबूतमेंतिरंगेकेसाथशवकोसेनाकेअधिकारीवजवानयहांलाएथे।शवपहुंचनेकीसूचनापरपंचायतचुनावलड़रहेउम्मीदवारसमेतउनकेसमर्थकभीकाफीसंख्यामेंपहुंचेथे। गांवकेग्रामीणोंनेअपनेसपूतकाशहीदकीतरहसम्मानकिया।तिरंगेकेसाथशवयात्रानिकाली।जवानराजसिंहअमररहें..केनारेभीलगारहेथे।पूरामाहौलदेशभक्तिसेओतप्रोतहोगयाथा।

पतिकेशवकोदेखबिलखपड़ीप्रियंका

शवसड़कमार्गसेविशेषवाहनसेगांवआयाहुआथा।इधर,पतिकेशवकोदेखकरबेसुधपड़ीपत्नीप्रियंकाबिलखपड़ी।मुफस्सिलथानाकेमथवलियागांवनिवासीदेवनारायणसिंहकोकुलदोपुत्रथे।जिसमेंराजसिंहबड़ेथे।साल2017मेंफौजीकीशादीबासदेवपुरगांवनिवासीप्रियंकादेवीसेहुईथी।दांपत्यजीवनकेदौरानएकबेटाएवंएकबेटीकीप्राप्तिहुईथी।दोनोंकानामआयुएवंजियाकुमारीहै।छोटाभाईअंजनीसिंहपरिवारकासहाराबचगयाहै।वहसीआरपीएफमेंकार्यरतहै।बतायाजारहाकिमथवलियागांवनिवासीराजसिंहउर्फराजनसिंह15दिनोंपहलेछुट्टीलेकरअपनेगांवआएथे।गोवर्धनपूजाकेबादड्यूटीपरगएथे।

Previous post अहीरों गांव से युवक का अपहरण
Next post बजट के अभाव में सिमली में लटका