पंचायत चुनाव बाद गूंजा चकबंदी के विरोध का मुद्दा

जागरणसंवाददाता,मुंगराबादशाहपुर(जौनपुर):विकासखंडकेअधिकतरग्रामपंचायतोंकेचुनावमेंभलेहीगांवकाविकासहीसबसेअहममुद्दारहाहो,लेकिनक्षेत्रकेसबसेबड़ेगांवतरहटीकामसलाजुदाथा।तरहटीकेअधिकतरलोगोंकाएलानथाकिअबकीतोप्रधानउसीकोचुनेंगेजोगांवमेंचकबंदीप्रक्रियाकाविरोधकरेगा।मैदानमेंउतरेज्यादातरउम्मीदवारोंनेचकबंदीरोकवानेकाहीवादाकरवोटमांगा।चुनावमेंचकबंदीविरोधकाविरोधहीसबसेबड़ामुद्दाबनगया।

लगभग15हजारकीआबादीवालेतरहटीगांवमें7535मतदाताहैं।इनमेंसे3848मतदाताओंनेमताधिकारकाप्रयोगकिया।आठप्रत्याशियोंकेभाग्य13मतपेटियोंमेंबंदहोचुकेहैं।अधिकांशप्रत्याशियोंनेचकबंदीरोकनेकादावाकरकेहीवोटमांगा।गांवकेलोगोंकाआरोपहैकिवर्ष2013मेंप्रधाननिलंबितथे।उनकेस्थानपरतीनसदस्यीयसमितिकार्यरतथी।उसदौराननिजीस्वार्थकेलिएकुछलोगोंनेगांववालोंकोआवास,पेंशनआदिसरकारीसुविधाओंकाझांसादेकरभोले-भालेग्रामीणोंसेचकबंदीकरानेसंबंधीमांगपत्रपरहस्ताक्षरकरालिएथे।ऊंचीपहुंचवप्रभावकाइस्तेमालकरचकबंदीआयुक्तसेचकबंदीकरानेकाआदेशकरालियाथा।चकबंदीआदेशकीजानकारीहोतेहीग्रामीणोंकाविरोधमुखरहोगया।अदालतकादरवाजाभीखटखटाया।रमेशपांडेय,अनमोलदुबे,संतोषउपाध्याय,अरुणउपाध्याय,रामखेलावनपटेल,भरततिवारी,रामसेवकयादव,लालबहादुरयादवआदिलोगचाहतेहैंकिगांवमेंचकबंदीनहो।उनकाकहनाहैकि1999मेंधारा52काप्रकाशनहोचुकाहै।प्रकाशनके14सालबादहीदोबाराचकबंदीकेआदेशकाकोईऔचित्यनहींहै।मुंगरापरगनाके132गांवोंमेंकहींभीचकबंदीनहींहोरहीहैतोतरहटीमेंहीचकबंदीक्योंहोगी।ग्रामीणोंकादावाहैकिइसबारमतदाताओंनेउसउम्मीदवारकोताजपहनादियाहैजोग्रामीणोंकेसुरमेंसुरमिलातेहुएचकबंदीरोकवासके।फिलहालचकबंदीकीमांगकरनेवालेभीभाग्यआजमारहेहैं।मैदानकौनमारेगा,यहदोमईकोवोटोंकीगिनतीकेबादहीपताचलपाएगा।

Previous post झपटमारी के आरोप में युवक पकड़ा,
Next post चमनगंज बाजार से दो आरोपित गिरफ