प्रवासियों की जीविका के लिए आम बन रहा खास

बल्दीराय(सुलतानपुर):बढ़तीजरूरतोंऔरआíथकरूपसेएकदूसरेसेआगेनिकलनेकीहोड़नेखेतखलिहान,बाग-बगीचेवपशुप्रेमसेलोगोंकामोहभंगकरदियाथा।परिवारबढ़नेसेकमहुएजोतकेआकारनेभीलोगोंकोरोटीकपड़ेकेजुगाड़केलिएपरदेसीहोनेकेलिएमजबूरकरदिया।लॉकडाउननेवापसअपनीजन्मभूमिलौटेप्रवासियोंकोखेत-खलिहान,बाग-बगीचेकीचिताकीसीखदेदीहै।बागमेंलगेआमकेफलकेहरगुच्छेमेंइन्हेंआíथकसंपन्नताकीउम्मीददिखरहींहै।हालहीमेंआएप्रवासीहोंयाक्वारंटाइनअवधिपूराकरचुकेश्रमिक,येसभीपुश्तैनीवखरीदेगएबगीचेमेंहीरहकरआमकेफसलकीरखवालीकररहेहैं।बघौनानिनावागांवकेनिवासीसईदअहमदवर्षोंसेआगरामेंरहकरखिलौनाबेचतेथे।लॉकडाउनमेंकारोबारबंदहोनेपर24अप्रैलकोवहघरचलेआए।होमक्वारंटाइनमेंवहअपनीपुश्तैनीआमकीबागकीरखवालीकरनेलगे।साथहीबागमेंबकरीवमुर्गीपालनकोभीबढ़ावादेरहेहै।वहकहतेहैकीउन्हेंबागसेतकरीबनएकलाखरुपयेआमदनीहोनेकीउम्मीदहै।

परदेससेलौटकरखरीदलियाआमकाबाग

बल्दीरायविकासखंडकेपूरेबावनगांवकेनिवासीबदलूयादवकईसालसेदिल्लीमेंरहकरट्रकचलातेथे।लॉकडाउनमेंघरआनेपरपरिवारजननेएहतीयातनघरमेंनहींघुसनेदिया।बदलूनेगौरागांवकेअब्दुलरहमानकेकलमीआमकेबगीचेको20हजाररुपयेमेंखरीदलिया।अभीतकवे30हजाररुपयेकाकच्चाआमबेचचुकेहै।लखनऊसेआएइसीगांवकेराममिलन,रामभवन,रामबालकप्रतिपेड़एकहजाररुपयेकीदरसेआमकेबागकीखरीदारीकररखवालीकररहेहैं।

Previous post Lakhisarai coronavirus News up
Next post जाम खुलवा रहे सीपीयू कर्मी के