Rajasthan: सीएम अशोक गहलोत बोले- अपराध रोकना है सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता, इस बत पर जताया संतोष

दिखरहाहैसकारात्मकपरिणाम

सीएमनेकहाकिराज्यमेंपुलिसकीकार्यशैलीकोआधुनिकएवंजनताकेअनुकूलबनानेकेउद्देश्यसेथानोंमेंस्वागतकक्ष,महिलाअपराधोंकीरोकथामएवंप्रभावीजांचकेलिएहरजिलेमेंअतिरिक्तपुलिसअधीक्षककेपदकासृजन,प्राथमिकीदर्जकिएजानेकोअनिवार्यबनाना,जघन्यअपराधोंकेलिएअलगइकाईकागठन,महिलाएवंबालडेस्ककासंचालन,सुरक्षासखी,पुलिसमित्र,ग्रामरक्षकऔरमहिलाशक्तिआत्मरक्षाकेंद्रजैसेनवाचारकिएगएहैंऔरइनकासकारात्मकपरिणामभीदेखनेकोमिलरहाहै.

महिलाअपराधकोलेकरसीएमनेकहीबड़ीबात

मुख्यमंत्रीनेकहाकिदुष्कर्मकेमामलोंकीजांचमेंलगनेवालाऔसतसमय2018में211दिनथा,जो2021मेंघटकर86दिनरहगया.उन्होंनेकहाकिजिलोंमेंअतिरिक्तपुलिसअधीक्षककेनेतृत्वमेंगठितविशेषजांचइकाइयोंकेकारणमहिलाअत्याचारकेलंबितमामलोंकीसंख्या12.5प्रतिशतसेघटकर9.3प्रतिशतरहगईहै.

इसबातपरजतायासंतोष

सीएमगहलोतनेइसबातपरसंतोषजतायाकियौनअपराधोंपरप्रभावीरोकथामकीदिशामेंकार्यकरतेहुएपुलिसने2021मेंपॉक्सो(यौनअपराधोंसेबच्चोंकासंरक्षण)कानूनके510प्रकरणोंमेंअपराधियोंकोसजादिलवाई,जिनमेंसेअपराधियोंकोचारप्रकरणोंमेंमृत्युदंडतथा35प्रकरणोंमेंआजीवनकारावासकीसजामिलीहै.

Previous post ठेकेदार से नकदी-जेवर लूटे, मोब
Next post आंध्र प्रदेश: भिखारी का शव कंध