रेन वाटर हार्वे¨स्टग से दे रहे जल संरक्षण का संदेश

संवादसूत्र,रामपुरा:जिनकाहौसलाबुलंदऔरइरादेमजबूतहोतेहैंउनकोमंजिलपानेकेलिएकिसीकेसहारेकीजरूरतनहींहोतीहै।बल्किवेखुदहीरास्ताबनाकरआगेबढ़तेरहतेहैं।माधौगढ़तहसीलकीग्रामपंचायतबोहराकेग्रामीणोंनेइसपरअमलकरतेहुएजलसंरक्षणकाबीड़ाउठायातोपीछेमुड़करनहींदेखा।ग्रामीणोंनेखुदकेप्रयाससेहरघरमेंरेनवाटरहार्वे¨स्टगकीशुरुआतकरपानीबचानेकीमुहिमकोधारदी।अबगांवकेकईघरोंमेंपानीबचानेकीइसव्यवस्थाकोशुरूकरनईइबारतलिखीहै।

बुंदेलखंडमेंपिछलेएकदशकसेसूखेकादंशझेलरहेलोगअबऔरपरेशाननजरआरहेहैं।पानीकीत्राहि-त्राहिमचीरहतीहै।लगातारपानीनिकालेजानेकीवजहसेधरतीकीकोखभीखालीहोरहीहै।जिसकेचलतेभूगर्भजलकास्तरभीगिरताजारहाहै।इसगंभीरसंकटसेनिपटनेकेलिएप्रयासकिएजारहेहैं।लोगोंकोपानीबचानेकेलिएजागरूककियाजारहाहै।माधौगढ़क्षेत्रमेंजलस्तरकाफीनीचेखिसकजानेसेलोगोंकोभविष्यकी¨चतासतानेलगीहै।हालांकिजलसंरक्षणकोलेकरसरकारद्वाराचेकडैम,मेड़बन्दीआदितमामउपायअपनाकरजलकेखिसकतेस्तरकोरोकनेकेलिएसंजीदगीदिखाईजारहीहै।

बीहड़पट्टीकेगांवोंमेंगिरतेजलस्तरकाप्रभावबढ़रहाहै।कुओंकापानीसूखगयाहैहैंडपंपपानीदेनाबंदकरचुकेहैं।इससमस्याकोदेखतेहुएग्रामपंचायतबोहराकेग्रामीणोंनेबारिशकेजलकोबचानेकासंकल्पलियाऔरअपने-अपनेघरोंमेंरेनवाटरहार्वे¨स्टगतकनीककोअपनाया।

-----------------------------------------------------------------

ग्रामीणोंनेकीसार्थकपहल

ब्लॉकमाधौगढ़केग्रामबोहरामेंवर्ष2008-09मेंग्रामीणोंनेअपनीसोचकोबदलतेहुएजलसंरक्षणकेलिएविधिअपनातेहुएअपने-अपनेमकानोंसेबरसातमेंछतोंसेनिकलनेवालेपानीकोपाइपोंकेसहारेउतारकरगांवमेंएकजगहबनेबोरवेलमेंसंकलितकरतेहैंताकिवर्षाकापानीइधरउधरनजाकरएकहीस्थानपरएकत्रितहोकरहोकरभू-गर्भमेंसमाहितहोऔरगिरतेजलस्तरमेंसंजीवनीबनसके।

--------------------------------------------------

ग्रामीणकुलदीपकुमारकहतेहैकिमेरेमनमेंविचारआयाकिवर्षाकेजलकोसंरक्षितकियाजायतोसमस्याकाफीहलहोसकतीहै।जिसकेबादअपनीमकानकीछतपरसेबरसातकापानीजोनिकलताहैउसेपाइपोंकेसहारेनीचेउतारकरएकजगहबनायेगएÞबोरवेलÞमेंडालाजारहाहैताकिगांवकापानीगांवमेंरुकसके।

देवीदयालराठौरकहतेहैकिहमारेभीघरमेयहीरेंनवाटरहार्वे¨स्टगकेमाध्यमसेपानीकोइकट्ठाकियाजाताहैताकिआगेभविष्यमेंपानीकीकिल्लतसेनजुझनापड़े।

ग्रामीणरघुनाथनेभीकहाकिअबगांवकेहरघरमेंरेनवाटरहार्वे¨स्टगकीव्यवस्थाहोगईहै।ताकिबारिशकेपानीकोरोकाजासके।पहलेगांवकापानीबर्बादचलाजाताथा।सभीकोजलसंरक्षणकेलिएइसतरहकीमुहिमछेड़नीचाहिए।

--------------------------------------------

ग्रामप्रधानराजबहादुरदोहरेकहतेहैंकिवर्ष2008-09मेंमेरेद्वाराकाफीप्रयासकियागयातभीअपनेगांववालोंकोजलसंरक्षणहेतुजागरूककिया।लोगोनेरेनवाटरहार्वे¨स्टगअपनाकरजलकोरोकनेकीकवायदशुरूकीहै।

जलसंरक्षणकेलिएचेकडैमोकाभीकरवायानिर्माण

रेनवाटरहार्वे¨स्टगकेअलावाचेकडैमवखेतोंकीमेड़बन्दीभीकरकेजलसंरक्षणकेउपायकिएगएहै।अबलोगोकोओरजागरूकहोनेकीजरूरतहै।ताकिपानीकीबर्बादीकोरोकाजासके।

Previous post वीडियोकॉल से किया पिता का अंति
Next post भाजपा महिला मोर्चा हर बूथ में