सहारनपुर संघर्ष: जाति और राजनीति का सम्मिश्रण

:गौरवसैनी:सहारनपुर:उप्र:,23मई:भाषा:सहारनपुरकाजातिगतसंघर्षउत्तरप्रदेशकीयोगीआदित्यनाथसरकारकीकानूनव्यवस्थाकेलियेपहलीबड़ीचुनौतीकेरूपमेंदेखाजारहाहैऔरयहांकेदलितएवंठाकुरसमुदायकेनेतादावाकरतेहैंकिसहारनपुरकेजातिगतसंघर्षोंमेंराजनीतिकीएकअंत:धाराहैजिसनेमुस्लिमोंकोभीअपनेदायरेमेंसमेटलियाहै।करीब600दलितोंऔर900ठाकुरोंकीआबादीवालेगांवशब्बीरपुरसेहिंसकचक्रकीशुरआतहुईथी।इनसंघर्षोंकेदलितपीडि़तोंकाकहनाहैकिउंचीजातिकेठाकुरोंनेउन्हेंगांवकेरविदासमंदिरपरिसरमेंबाबासाहिबअंबेडकरकीप्रतिमास्थापितनहींकरनेदीथी।बादमेंपांचमईकोराजपूतराजामहाराणाप्रतापकीजयंतीकेउपलक्ष्यमेंठाकुरोंकेएकजुलूसपरएकदलितसमूहनेआपत्तिजतायीतोइससेहिंसाफूटपड़ी।इसमेंएकव्यक्तिकोअपनीजानगंवानीपड़ीऔर15लोगघायलहोगये।गांवकेजाटवदलितोंकाकहनाहैकिजबतकबहनजी:मायावती:काशासनथातबतकठाकुरोंनेअपनीभावनाएंदबायेरखींलेकिनअबचीजेंबदलगयीहैं।सहारनपुरजिलाअस्पतालमेंअपनेजख्मोंकाउपचारकरारहे62वर्षीयदालसिंहकहतेहैं,ठाकुरसमुदायसेआनेवालेयोगीआदित्यनाथकेसरकारकीबागडोरसंभालनपरउनकीजातिकेलोगअपनादबदबाजतारहेहैं।वहकहतेहैं,बसपाशासनकेदौरानवेकहाकरतेथे,दलितोंकोछुनातकनहीं।वेहाईवोल्टेजकेतारहै।अबवेकत्लेआममचारहेहैं।इससरकारकोआयेबमुश्किलदोमहीनेहीहुएहैं,पांचसालतोलंबावक्तहै।

Previous post आग से झुलस कर महिला घायल
Next post हाईवे पर बिजली के तारों में उल