सत्तर साल बाद भी नहीं बनी छाड़ा में सड़क

संवादसूत्र,पुरोला:तहसीलमुख्यालयसेमहजतीनकिमीकीदूरीपरस्थितछाड़ाकेग्रामीणोंनेगांवकोसड़कसेजोड़नेकीमांगकोलेकरउपजिलाधिकारीकेमाध्यमसेमुख्यमंत्रीकोज्ञापनभेजा।जल्दसमस्याकासमाधाननहींहोनेपरग्रामीणोंनेशासन-प्रशासनकेखिलाफउग्रआंदोलनकीचेतावनीदीहै।

ज्ञापनमेंग्रामीणोंनेबतायाकिदूरदराजसरबडियार,सांखाल,मटियालोड़आदिगांवतकसड़कपहुंचगईहै,लेकिनआजादीके72वर्षबादभीकुरूड़ाग्रामपंचायतकाछाड़ागांवआजतकसड़कसुविधासेमहरूमहै।गांवमें35परिवारहैं,जिनमेंअधिकांशअनुसूचितजातिकेहैं।कहाकईबारशासनप्रशासनकोज्ञापनभेजकरपुरोला-कुरूड़ारोडसेडेढ़किमीछाड़ागांवकोसड़कसेजोड़नेकीमांगकीगईहै,लेकिनआजतकरोडस्वीकृतनहींहुईहै।ग्रामीणोंऔरस्कूलीबच्चोंकोआजभीडेढ़सेदोकिमीपैदलचलकरबाजारपहुंचनापड़रहाहै।इसमौकेपरशूरवीर,शांतिराम,निवितादेवी,प्रकाशकुमार,खजान¨सहरावत,सुरमादेवी,अतर¨सह,स्वर्ण¨सह,नरेंद्र¨सह,जयवीर¨सहआदिमौजूदथे।

Previous post महामाई की भेंटों पर मंत्रमुग्ध
Next post हाईटेंशन के टूटे तारों की चपेट