उत्‍तरकाशी : निर्वाचन के तीन साल बाद भी प्रधान को नहीं मिला चार्ज

जागरणसंवाददाताउत्तरकाशी:डुंडाब्लाककेनगलग्रामपंचायतमेंनिर्विरोधनिर्वाचितहुईप्रधानललितादेवीकोतीनसालबादभीपदभारनहींमिलपायाहै।कार्यभारनदेनेकोलेकरप्रधाननेजिलाप्रशासनसेमामलेकीशिकायतकीहै।

इसकेबादजिलापंचायतीराजविभागहरकतमेंआयाहै।जिलापंचायतीराजविभागनेगांवमेंसामूहिकबैठककरवानेकेनिर्देशखंडविकासअधिकारीकोदिएहैं।गांवमेंग्रामीणोंकेबीचआपसीऔरजातिगतविवादहोनेकाअसरगांवकेविकासपरभीपड़रहाहै।

नवंबर2019मेंपंचायतीचुनावहुएथे।उत्तरकाशीकेडुंडाब्लाककेनगलग्रामपंचायतमेंप्रधानपदअनुसूचितजातिमहिलाकेलिएआरक्षितथा।इसपदकीपात्रतागांवमेंकेवलएकमहिलाललितादेवीपरथीऔरउन्होंनेइसकेलिएनामांकनकियाथा।

एकहीनामांकनहोनेकेकारणललितादेवीकानिर्वाचननिर्विरोधहोगया।ललितादेवीकोत्रिस्तरीयपंचायतीराजविभागकीओरसेनिर्वाचनप्रमाणपत्रभीदियागया,लेकिनआजतकउन्हेंकार्यभारनहींदियागयातथाप्रधानपदकीशपथभीनहींदिलाईगई।

इसकेअलावासातसदस्योंमेंसेचारसदस्योंकाभीनिर्वाचनहुआ,लेकिनकुछहीसमयबादचारसदस्योंनेआपसीविवादहोनेहोनेकेकारणसामूहिकइस्तीफादेदिया।भलेइसमामलेमेंपंचायतीराजविभागनेसदस्योंकाइस्तीफास्वीकारनहींकिया।

जिलापंचायतीराजअधिकारीचंडीप्रसादसुयालनेकहाकिनगलमेंजातिगतविवादहोनेकेकारणगांवमेंअभीतकसभीसातवार्डसदस्योंकाचुनावनहींहोपायाहै।

पूर्वमेंचयनितचारवार्डसदस्योंनेभीसामूहिकइस्तीफादियाहै।ग्रामपंचायतकोसंचालितकरनेकेलिएप्रधानकोदोतिहाईसदस्योंकीआवश्यकताहोतीहै।

पारिवारिकविवादकेचलतेप्रधानकाइस्तीफा

पिछलेदोसालसेगांवसेअनुपस्थितरहनेपरप्रधानसेजिलापंचायतीराजविभागनेत्यागपत्रमांगाहै,जिसपरप्रधाननेअपनात्यागपत्रभेजदियाहै।जिलापंचायतीराजअधिकारीचंडीप्रसादसुयालनेबतायाकिडुंडाब्लाककेभाटगांवमेंपंचायतीचुनावमेंप्रधानपदकेलिएअनुसूचितजातिमहिलाकेलिएआरक्षितथी।

गांवकीकवितादेवीनेनामांकनकिया।एकहीनामांकनहोनेकेकारणउसकानिर्विरोधनिर्वाचनहुआहै।लेकिन,पिछलेदोसालमहिलाप्रधानकापारिवारिकविवादचलरहाहै।जिसकेकारणमहिलाप्रधानअपनेमायकेहरिद्वारमेंरहरहीहै।

ग्रामीणोंनेपिछलेदोवर्षोंसेगांवमेंविकासकार्यठपहोनेकीशिकायतकीहै।इसपरजिलापंचायतीराजविभागनेजबमहिलाप्रधानसेइसकाकारणपूछातोमहिलानेलिखितरूपमेंअपनाएकत्यागपत्रभेजा।हस्ताक्षरकीजांचहोनेकेबादप्रधानकात्यागपत्रस्वीकृतकियाजाएगा।

Previous post महिला शिक्षकों के अधिकार की आव
Next post अलीगढ मेंं ट्रक ने बाइक व टेंप