विजय की हत्या पर मातम, स्वजनों का बुरा हाल

सुगौली।हेभगवानईकाकइल,हमराराजाकेईपापीमारदेलख।हमरराजाहमनीकेछोड़केकहांचलगइलेहोराम,अबहमनीकेकइसेरहेमसन।बिलख-बिलखकररोतेहुएमृतकविजयकीपत्नीकिरणदेवीबेहोशहोजारहीथी।लोगसमझारहेथे,लेकिनपतिकीमौतनेपूरेपरिवारपरदुखकापहाड़बनकरटूटपड़ाथा।अष्टयामदेखनेगयाकोबेयानिवासीविजयसाहकीमौतकेबादगांवमेंमातमपसराहै।मृतककेमाता,पिता,भाई,बहनवपरिजनोंकाबुराहोगयाथा।लोगलाखसमझारहेथे,मगरसभीपीड़ितपरिजनगमवपीड़ासेपागलजैसाहोगएथे।घरकेआसपासयागांवकाकोईभीव्यक्तिएकझलकदेखनेकेलिएआताथावहअपनीआंखोंमेंआंसूकोरोकनहींपताथा।पूरेगांवमेंइसघटनाकेबादमातमीसन्नाटापसराहुआथा।चारोंतरफइसघटनाकोलेकरलोगव्यथितहोगएथे।मृतकमजदूरीकरकेपरिवारकाभरणपोषणकरताथा।परिवारकेलोगउसेबहुतचाहतेथे।पीड़ितपरिवारकेलोगभूमिविवादकोलेकरयुवककीहत्याकरनेकीबातकहरहेथेऔरगांवकेहीलोगोंपरआरोपलगारहेथे।घटनाकोलेकरउपमुखियाअशोकझापीड़ितपरिवारसेघटनाकेबारेमेंजानकारीलीऔरसांत्वानादी।

Previous post विभिन्न घटनाओं में चार जख्मी
Next post कुशीनगर के खड्डा में संवेदनशील