नवादा। प्रखंड के कोशी गांव में बुधवार को सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ाने का प्रयास किया गया। लेकिन बुद्धिजीवियों के हस्तक्षेप व प्रशासनिक तत्परता से असमाजिक तत्वों का मंसूबा पूरा नहीं हुआ। स्थिति को संभालने में युवा रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मो. कामरान एवं रोह थाना के एसआइ मुबारक अली ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। बताया जाता है कि सरस्वती पूजन के बाद गांव के पश्चिम दिशा में स्थित देवी मंदिर में पूजा करने की प्रथा है। पहले यहां दो -चार लोग आकर पूजन की औपचारिकता पूरी कर लौट जाते थे। परंतु इस बार सैकड़ों की संख्या में लोग ढ़ोल-बाजे के साथ यहां पहुंचे थे। जिसके कारण शरारती युवकों के बीच रास्ता विवाद को लेकर तू-तू मैं-मैं हो गई। इस दौरान शरारती तत्वों द्वारा पथराव भी किया गया। जिसमें दोनों ओर से कुछ लोगों को हल्की चोट लगी है। इस दौरान गांव में आयोजित क्रिकेट टूर्नामेंट में शामिल रालोसपा के राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष मो. कामरान को किसी ने सूचना दी। वे भी मौके पर पहुंचे। हालांकि बीच-बचाव में कामरान भी चोटिल हो गए। घटना की सूचना मिलते ही एसडीपीओ सदर विजय कुमार झा, इंस्पेक्टर मनोज सुमन व थानाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार आदि भी वहां पहुंच गए और स्थिति को नियंत्रित किया। उसके बाद शांतिपूर्ण तरीके से जुलूस को गंतव्य स्थान की ओर रवाना किया गया। फिलहाल, गांव की स्थिति नियंत्रण में है।